मुंबई: क्रिकेटर की हत्या से सनसनी, हिरासत में महिला दोस्त

प्रवीण मिश्रा,  न्यूज 24 ब्यूरो, मुंबई (7 जून): मुंबई के भांडुप इलाके में बीती रात एक क्रिकेटर की हत्या कर दी गयी। बताया जा रहा है कि क्रिकेटर राकेश पवार घटना के समय अपनी महिला दोस्त के साथ बाइक पर कही जा रहे थे।  हैरानी की बात ये है कि भांडुप पुलिस की जिस महिला अधिकारी ने कभी राकेश पवार को बेहतर खेल के लिए सम्मानित किया था वही अब उनकी हत्या के मामले की जांच कर रही हैं। इस हत्याकांड में महिला दोस्त की भूमिका भी संदेह के घेरे में है। पुलिस ने महिला दोस्त को भी हिरासत में लिया है जबकि हत्यारे घटना के बाद से फरार है।

बताया जा रहा है कि गुरुवार रात मुम्बई के भांडुप इलाके में एल बीएस रोड पर एक पेट्रोल पंप के सामने अपनी महिला दोस्त के साथ बाइक पर  जा रहे राकेश पवार पर 2 से 3 अज्ञात हमलावरों ने  हमला कर उसकी हत्या कर दी। राकेश पवार पेशे से क्रिकेटर थे और जिला स्तर पर सालों से क्रिकेट खेलते थे साथ ही क्रिकेट की कोचिंग भी करते थे। घटना के बाद भांडुप पुलिस तत्काल घटनास्थल पर पहुची और राकेश को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने राकेश की महिला दोस्त को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लाया है वहीं हमलावरों की तलाश की जा रही है। हालांकि पुलिस अभी इस मामले में आधिकारिक तौर पर कोई बयान देने से बच रही है। फिलहाल अज्ञात हमलावरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया और उनकी तलाश की जा रही है। पुलिस सूत्रों की माने तो संभवतः आपसी रंजिश के चलते हत्या की इस वारदात को अंजाम दी गई है। हालांकि महिला दोस्त की भूमिका की भी जांच की जा रही है कि क्या कोई लव ट्रायंगल का मामला है  तो नहीं है।राकेश पवार के पडोसी और बचपन के दोस्त गोविंद की माने तो राकेश को बचपन से ही क्रिकेट का शौक था और वह कड़ी मेहनत करके वो जिला स्तर तक सैकड़ों क्रिकेट प्रतियोगिता में बतौर गेंदबाज हिस्सा लिया था। उसे कई पुरस्कार भी मिले थे। उसे जब इस बात की जानकारी मिली तो यकीन ही नहीं हुआ। गुरुवार दोपहर ही उसकी राकेश से मुलाकात भी हुई थी। हत्यारों ने पहले राकेश को पेट्रोल पंप से निकलने के समय पीछे से आवाज दी और जैसे ही राकेश ने बाइक रोका उन्होंने हमला कर दिया। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर राकेश पेट्रोल पम्प पर है इस बात की जानकारी किसने और जिस तरह से दी और हत्यारे पहले से ही हथियार के साथ वहां कैसे मौजूद थे। इसी वजह से महिला पर भी शक की सुई घूम रही है। गोविंद के मुताबिक इलाके के कुछ लोगों से राकेश के परिवार की लंबे समय से अनबन चल रही थी जिसकी शिकायत कई बार थाने में कई गयी थी। फिलहाल पुलिस महिला के फोन कॉल रिकॉर्ड को भी खंगालने और घटनास्थल से लेकर आरोपियों के भागने के रूट पर लगे सीसीटीवी फुटेज को भी चेक कर रही है।