मुंबई बिल्डिंग हादसा: मलबे के नीचे जिंदगी की तलाश जारी, अब तक 14 लोगों की मौत

MUMBAIप्रवीण मिश्रा, न्यूज 24 ब्यूरो, मुंबई (17 जुलाई): मुंबई के डोंगरी में मंगलवार को हुए हादसे में मरने वालों की तादाद 14 तक पहुंच गई है। घटना स्थल पर राहत और बचाव का काम लगातार युद्ध स्तर पर जारी है। जानकारी के मुताबिक अभी भी मलबे में कुछ लोगों के फंसे होने की आशंका है। एनडीआरएफ की टीम स्नीफर डॉग्स की मदद से बचाव अभियान में जुटी हुई है। मलबे के नीचे से दो नाबालिगों के शव बरामद हुए हैं। अब तक यह आंकड़ा 14 पहुंच चुका है जबकि इमारत के मलबे में 30-40 लोगों के दबे होने की आशंका है।

चार मंजिला है। हादसा दोपहर के करीब 11:40 बजे हुआ, जब लोग इमारत में बने घरों में थे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री ने मलबे में 15 परिवारों के दबे होने की आशंका जताई। राज्य के आवास मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल ने बताया कि टंडेल मार्ग पर एक संकरी गली में स्थित महाराष्ट्र आवास एवं विकास प्राधिकरण (महाडा) की केसरबाई इमारत गिरने से हादसा हुआ। बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि घनी आबादी वाले इलाके में हुए इस हादसे में सात लोग घायल भी हुए हैं। घायलों को जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

संकरी गली में बनी इस इमारत के नीचे दुकानें बनी थीं, जबकि इसकी ऊपरी मंजिलों पर परिवार रह रहे थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि लगभग छह परिवार इस इमारत में रह रहे थे। इमारत का आधा हिस्सा जर्जर था, जिसके गिरने की आशंका पहले से ही थी लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। इससे आसपास के लोगों में गुस्सा भी है। घटनास्थल पर राहत कार्य के लिए पहुंचे फायर अधिकारियों ने बताया कि जो इमारत गिरी है उससे सटी हुई एक और इमारत है। यह इमारत भी बेहद जर्जर स्थिति में है। इमारत गिरने के बाद इस बगल वाली इमारत के ढहने के कारण अब दूसरी इमारत के गिरने की आशंका भी तेज हो गई है। लोगों को इस इमारत से दूर हटाया जा रहा है।