49 साल से मुंबई में रहने वाले आसिफ को भेजा जाएगा पाकिस्तान !

मुंबई (22 दिसंबर): 51 साल के आसिफ कराडिया को वापस पाकिस्तान भेजा जा सकता है। मुंबई हाईकोर्ट ने बुधवार को आसिफ कराडिया की भारतीय नागरिकता देने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया। आसिफ कराडिया महज 2 साल की उम्र से मुंबई में रह रहे हैं।

दरअसल में आसिफ ने पुलिस का नोटिस मिलने के बाद हाई कोर्ट से भारत की नागरिका देने की मांग की थी। इसी साल जून महीने में पुलिस ने आसिफ को नोटिस भेज पाकिस्तानी पासपोर्ट दिखाने का आदेश दिया था। नोटिस में ऐसा न करने की स्थिति में उन्हें पाकिस्तान भेजने की बात कही गई है।

याचिका में आसिफ ने कहा था कि उनका जन्म भले ही पाकिस्तान में हुआ हो लेकिन उनके माता-पिता भारतीय हैं, उनकी पत्नी और तीन बच्चे भी भारतीय हैं। इतना ही नहीं उनके पास पैन, आधार, वोटर आईडी, राशन कार्ड जैसे सभी जरूरी दस्तावेज भी हैं।

1965 में आसिफ का जन्म का जन्म पाकिस्तान में हुआ था। आसिफ की मां भारतीय थीं लेकिन मूल रूप से पाकिस्तान में रहीं। आसिफ के पिता अब्बास का कहना है कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि ये मसला इतना बड़ा हो जाएगा। आसिफ कभी दोबारा पाकिस्तान नहीं गया और न ही वह उसकी नागरिकता चाहता है।

आसिफ ने हज जाने के लिए साल 2012 में भारतीय पासपोर्ट के लिए अप्लाई किया था। मगर उनके आवेदन को खारिज कर दिया और उनसे लॉन्ग-टर्म वीजा के लिए आवेदन करने को कहा। आसिफ के लॉन्ग टर्म वीजा की अवधि दो बार बढ़ाई जा चुकी है और अब यह दिसंबर तक ही वैध है। 

कोर्ट ने आसिफ के वकील से यह भी सवाल किया है कि जब उनके पास पाकिस्तानी पासपोर्ट नहीं है तो उन्हें भारतीय वीजा कैसे मिला। फिलहाल हाई कोर्ट की बेंच ने मामला 17 जनवरी तक टाल दिया है।