अमर-शिवपाल के बिना जिंदा नहीं रह सकता: मुलायम

 

लखनऊ(24 अक्टूबर): सपा परिवार में विवाद के बीच मुखिया मुलायम सिंह यादव ने बेटे के बदले भाई का साथ दिया है। विवाद को लेकर सोमवार को लखनऊ पार्टी ऑफिस में मीटिंग के दौरान कहा कि पद मिलते ही लोगों का दिमाग खराब हो जाता है। लोग अभी भी हवा में हैं। अगर अपनी पर आ गया तो सब नंगे हो जाएंगे। कहा- ''शिवपाल मेहनती और जनता के नेता हैं।'' अपनी स्पीच में मुलायम ने अमर सिंह, शिवपाल, गायत्री प्रजापति को लेकर अखिलेश के विचार को नकारा। 

1. शिवपाल मेहनती और जनता के नेता

- मुलायम ने कहा, ''शिवपाल यादव आम जनता के नेता हैं। गाँव-गाँव मैं भी टहला हूँ, जो तुम्हारी निंदा करे वो तुम्हारा मित्र होगा।'' - ''ये जो बैठा है इसने सही पत्र लिखा है, ये शिवपाल जानता है। - ''शिवपाल मेहनती हैं। तुम लोगों की अभी हैसियत नहीं जो चिल्‍ला रहे हो। शिवपाल के कामों को कभी नहीं भूल सकता। तुम लोगों में से कोई बता दाे, समाजवादी पार्टी की परिभाषा क्‍या है।''

2. मुख्तार अंसारी की पार्टी के विलय को लेकर - मुलायम ने कहा-'' अंसारी का सम्‍मानित परिवार है।'' - ''अंसारी के दादा आज़ादी में लड़े, परिवार के लोग उपराष्ट्रपति रहे।'' - ''जो बड़ा नहीं सोच सकता, नेता नहीं बन सकता।''

3. अखिलेश सपोर्टर्स को डांटा, कहा- नारेजाबी मत करो, एक लाठी नहीं झेल पाओगे - ''हम चापलूसों को पसंद नहीं करते हैं। समाजवादी पार्टी टूट नहीं सकती है।'' - ''नारेबाजी करने वालों को बाहर करेंगे। पद मिलते ही कुछ लोगों का दिमाग खराब हो गया है।'' - ''ये न समझें कि नौजवान मेरे साथ नहीं है। एक लाठी सह नहीं पाओगे।''

4. अमर सिंह मेरे भाई - सपा सुप्रीमो ने कहा,''मुझे सज़ा से मुझे अमर सिंह ने बचाया। पार्टी में भी नहीं था अमर फिर भी मुझसे मेदांता मिलने आया।'' - ''अमर ने बहुतों को बचाया, एहसानफरामोश मत बनो।'' - ''तुम अमर सिंह को गाली देते हो, उसने मेरी बहुत मदद की। अमर सिंह मेरा भाई है।'' - ''तुम लोगों ने प्रजापति काेे भी अपमानित किया।'' - ''अगर मैं चाहता तो पीएम बन जाता लेकिन लालू ने अड़ंगा लगा दिया।''