अखिलेश यादव की बढ़ सकती है मुश्किलें, शिवपाल यादव के नए दफ्तर पहुंचे मुलायम सिंह यादव

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (30 अक्टूबर): समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के कर्ताधर्ता शिवपाल यादव के बीच वर्चस्व की लड़ाई अपने चरम पर है। लेकिन इस लड़ाई में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव को किसका साथ मिलेगा फिलहाल ये साफ नहीं है। मुलायम सिंह जहां बेटे अखिलेश के साथ मंच पर नजर आते हैं तो भाई शिवपाल के साथ खड़ा दिखते हैं। इसी कड़ी में आज मुलायम सिंह यादव शिवपाल सिंह यादव के नए दफ्तर पर पहुंचे। मुलायम सिंह यादव आज शिवपाल सिंह यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के कार्यालय पहुंचे। 6 लाल बहादुर शास्त्री मार्ग स्थित पार्टी कार्यालय में उनका भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान मुलायम सिंह जिंदाबाद और शिवपाल सिंह यादव जिंदाबाद के नारे लगाए गए.आपको बता दें कि शिवपाल सिंह यादव को पिछले दिनों माल एवेन्यू में जो बंगला आवंटित किया गया था। उसमें उन्होंने अपनी पार्टी का कार्यालय बनाया और मंगलवार को कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया। इसमें समाजवादी पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव को भी आमंत्रित किया गया था। मुलायम ने आमंत्रण स्वीकार किया और कार्यालय पहुंचे। गौरतलब है कि पिछले दिनों ही यूपी सरकार ने शिवपाल सिंह यादव को वो सरकारी बंगला रहने के लिए दे दिया है जो कुछ वक्त पहले तक बीएसपी सुप्रीमो मायावती के पास था. बंगला मिलने के बाद शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि वह पांच बार से विधायक रहे हैं. शिवपाल की सुरक्षा को लेकर इंटेलिजेंस ब्यूरो की तरफ से रिपोर्ट भी मिली थी. बंगला आवंटन के लिए उन्होंने प्रार्थना पत्र दिया था, जिसके बाद यह बंगला आवंटित किया गया है.इस दौरान मुलायम ने शिवपाल के साथी नेताओं से मुलाकात की। शिवपाल के पार्टी घोषित करने के बाद मुलायम पुत्र अखिलेश व भाई शिवपाल के बीच संतुलन साधते नजर आ रहे हैं। वह अखिलेश यादव के मंच पर भी जा रहे हैं और शिवपाल के साथ भी नजर आ रहे हैं। शिवपाल ने आगामी लोकसभा चुनाव में प्रदेश की सभी 80 सीटों पर प्रत्याशी उतारने की घोषणा की है। कहा जा रहा है कि अगर ऐसा होता है कि सपा को नुकसान उठाना पड़ सकता है।