बेटा अखिलेश पर फिर सख्त हुए मुलायम, रामगोपाल के अधिवेशन को बताया फर्जी

नई दिल्ली (8 नवंबर): उत्तर प्रदेश में अगले महीने विधानसभा चुनाव होने हैं। तमाम पार्टियां चुनावी तैयारी और प्रचार में जुटी है। वहीं समाजवादी पार्टी में पिछले 6 महीने से जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। पिता मुलायम और बेटा अखिलेश में पार्टी में वर्चस्व को लेकर जारी लड़ाई चुनाव आयोग तक पहुंच चुका है। सिसायत के माहिर खिलाड़ी समझे जाने वाले मुलायम सिंह को समझ में नहीं आ रहा है कि वो बेटे अखिलेश की चुनौती से कैसे निपटे। अखिलेश यादव ने पार्टी, पार्टी के चिन्ह सहित कई चीजों पर अपना दावा ठोक दिया है।

इनसबके बीच मुलायम सिंह ने एकबार फिर शख्त लहजे में कहा है कि वो ही पार्टी के सही मायने में राष्ट्रीय अध्यक्ष है और अखिलेश यादव महज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। साथ ही मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश और रामगोपाल के 1 जनवरी को बुलाए गए अधिवेशन के फर्जी करार दिया। उन्होंने कहा कि रामगोपाल यादव 6 साल के लिए पार्टी से बर्खास्त हैं ऐसे में उन्हें पार्टी का अधिवेशन बुलाने का कोई हक नहीं है।

मुलायम सिंह की बड़ी बातें...

- मैं समजावादी पार्टी का अध्यक्ष हूं

- अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं

- शिवपाल यादव एसपी के प्रदेश अध्यक्ष हूं: मुलायम सिंह

- रामगोपाल पार्टी से बर्खास्त हैं

- 1 जनवरी को बुलाया गया अधिवेशन फर्जी

- रामगोपाल को अधिवेशन बुलाने का हक नहीं