मुलायम ने शिवपाल के लिए किया प्रचार, बेटे अखिलेश का नहीं लिया नाम

इटवा (11 फरवरी): उत्तर प्रदेश में चुनावी घमासान जोरों पर है। अब तमाम पार्टियों की नजर दूसरे फेज की वोटिंग पर टिकी है। तमाम पार्टियों के नेता शिद्दत से चुनाव प्रचार में जुटे हैं। काफी नानुकुर के बाद समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी चुनाव प्रचार में जुटे गए हैं। लेकिन मुलायम सिंह अपने बेटे अखिलेश के लिए नहीं बल्कि भाई शिवपाल के लिए चुनाव प्रचार कर रहे है।

सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने आज इटावा में अपने भाई शिवपाल यादव के समर्थन में प्रचार करने के लिए आए। प्रचार के दौरान उन्होंने न तो अपने बेटे अखिलेश यादव का नाम लिया न ही उनकी सरकार और एसपी-कांग्रेस गठबंधन का जिक्र किया।

मुलायम ने इटावा जिले की जसवंतनगर विधानसभा सीट से एसपी प्रत्याशी शिवपाल सिंह यादव के लिए ताखा ब्लॉक में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश का यह चुनाव बहुत महत्वपूर्ण है। खासतौर से मेरे और शिवपाल सिंह के लिए।

मौजूदा विधानसभा चुनाव में पहली बार किसी जनसभा को संबोधित कर रहे एसपी संरक्षक ने कहा, 'विशेष परिस्थितियों में शिवपाल सिंह को जिता देना। एसपी के बारे में जो भूमिका लिखी गई है, उस पर नहीं जाना।' एसपी संस्थापक ने कहा कि नौजवान लोग ही एसपी की असली ताकत हैं और सबसे ज्यादा नौजवान उसी के साथ हैं, इसलिए हमारी पार्टी कभी बूढ़ी नहीं हो सकती।