जिसने पीएम बनने से रोका, हमने उसे समधी बना लिया- मुलायम

नई दिल्ली (17 सितंबर): शायद यह पहला मौका था जब समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव पार्टी दफ्तर के ऑडिटोरियम में पहुंचे तो उन्हें दो अलग-अलग गुटों की नारेबाजी का सामना करना पड़ा। एक गुट नेताजी से उनके भाई शिवपाल यादव का सम्मान वापस मांग रहा था तो दूसरा गुट अखिलेश तुम संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं के नारे लगा रहा था।

उत्तर प्रदेश के इस ताकतवर सियासी यादव परिवार में फूट को मुलायम सिंह किसी भी तरह संभालते दिखे। इस दौरान मुलायम ने अपनी बेबसी भी जाहिर की। उन्होंने कहा, 'जिसने मुझे प्रधानमंत्री बनने से रोका उसे समधी बना लिया।' लालू यादव के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने ही 1996 के आम चुनाव के बाद मुलायम सिंह को प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया था। इस चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था। ज्योति बसु के नाम पर सहमति बनी थी लेकिन सीपीएम ने उन्हें ऐसा नहीं करने दिया। इसके बाद मुलायम सिंह पर बात चली लेकिन लालू तैयार नहीं हुए थे।