बड़ा खुलासा: पिता मुलायम ने ही टीपू को बनाया सुल्तान!

नई दिल्ली (16 जनवरी): आखिरकार टीपू ने पिता मुलायम सिंह से साइकिल छिन ही ली। लेकिन इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली खबर का खुलासा चुनाव आयोग ने किया है। चुनाव आयोग की मानें तो पिता मुलायम सिंह यादव ने साइकिल निशान के लिए अपनी ओर से चुनाव आयोग के मांगने पर हलफनामा दिया ही नहीं।

एक हलफनामा मुलायम की ओर से दिया गया, लेकिन ना तो शिवपाल यादव ने और ना ही अमर सिंह ने मुलायम के लिए हलफनामा पेश किया। साइकिल निशान के लिए अखिलेश ने 4 हजार 716 हलफनामा पेश किए, जिससे साफ था कि पार्टी पर अखिलेश की जबर्दस्त पकड़ बनी हुई है।अखिलेश के समर्थन में 228 में से 205 विधायकों ने, 68 में से 56 विधान पार्षदों ने, 24 में से 15 सांसदों ने, 46 में से 28 राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्यों ने, 5731 में से 4400 प्रतिनिधियों ने अखिलेश के समर्थन में हलफनामा दिया, जिससे पार्टी पर अखिलेश का दबदबा चुनाव आयोग में साबित हुआ।

ऐसा नहीं है कि मुलायम सरेंडर के मूड में थे। अखिलेश कैंप की ओर से पेश हलफनामों में नुक्ताचीनी मुलायम ने चुनाव आयोग के सामने रखकर साइकिल पर अखिलेश का दावा कमजोर करने की कोशिश की। चुनाव आयोग के सामने उन्होंने ये भी कहा कि पार्टी में कोई विवाद नहीं है।