हो सकती है सुलह! मुलायम अध्यक्ष पर अड़े, अखिलेश बांटेंगे टिकट

नई दिल्ली (10 जनवरी): सपा में चल रहा बाप और बेटे का घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। अब खबर आ रही है कि मुलायम सिंह यादव और अखिलेश के बीच जो बैठक चली उसमें नेताजी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहने की बात कही। वहीं अखिलेश यादव अड़े रहे कि अध्यक्ष पद उन्हें ही मिलना चाहिए।

हालांकि मुलायम इसपर सहमत हो गए कि अखिलेश के पास ही टिकट बांटने का अधिकार होगा। मुलायम सिंह यादव अखिलेश को सीएम और उत्तरप्रदेश के चुनाव लड़ने सहित सारे अधिकार लिखित तौर पर देने को तैयार। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने मुलायम सिंह यादव से कहा की सारे अधिकार दे रहे हैं तो राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी भी केवल तीन महीने के लिए मांग रहा हूं। लिहाज़ा आप आशीर्वाद दीजिए।

मुलायम से मुलाकात के बाद सीएम अखिलेश ने हाथ हिलाते हुए निकले और ओके जैसा मैसेज दिया। पिता और पुत्र की इस मुलाकात के दौरान अमर सिंह और रामगोपाल यादव अनुपस्थित रहे। हालांकि, इस दौरान कुछ समय तक गायत्री व संजय सेठ बैठक में मौजूद रहे।

- अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव ने 2017 चुनाव को लेकर अपनी अपनी बात स्पष्ट तरीक़े से रखी।- अमर सिंह और शिवपाल यादव रहेंगे चुनाव से बाहर ।- प्रोफ़ेसर रामगोपाल के पास अबतक जो अधिकार रहते थे वो सारे अधिकार अखिलेश के पास रहेंगे।- इसके लिए चुनाव आयोग को लिखकर देने के लिए मुलायम सिंह यादव तैयार।- फ़ॉर्म A से फ़ॉर्म B का अधिकार अखिलेश को देने के लिए मुलायम सिंह यादव तैयार।- मुलायम सिंह यादव की तरफ़ से कोई भी प्रत्याशी नहीं उतरा जाएगा चुनाव में।- फ़ॉर्म B की तरफ़ से चुनाव निशान बांटने का अधिकार होगा अखिलेश यादव के पास।- मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव राष्ट्रीय अध्यक्ष को लेकर एक दूसरे से अर्ज़ी वापस लेने को लेकर बात की।- अखिलेश यादव ने चुनाव और चुनाव के दौरान बैकफुट पर जाने पर सत्ता हासिल नहीं कर पाऊंगा। लिहाज़ा चुनाव आयोग से आप अपनी अर्ज़ी वापस ले लीजिए।- मुलायम सिंह यादव ने राष्ट्रीय अध्यक्ष मामले पर बने रहने की बात कही।