BREAKING: टूट गई सपा, मुलायम ने की अखिलेश के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा!

नई दिल्ली (16 जनवरी): कभी चाचा और भतीजे के बीच शुरू हुई यूपी की जंग अब बाप-बेटे के बीच जा पहुंची है। हालांकि समय-समय पर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव यह कहते हुए जरूर दिखाई दिए कि पार्टी में सबकुछ ठीक है। लेकिन उन्होंने आज जो बयान दिया है, उससे एक बात साफ हो गई है कि पार्टी टूट चुकी है।

मुलायम सिंह ने कहा कि मैंने 3 बार अखिलेश को बुलाया पर वो 1 मिनट के लिए ही आए और मेरी बात शुरू होने से पहले ही चले गए। मेरा बेटा दूसरे के हाथों में खेल रहा है। रामगोपाल के इशारे पर काम कर रहा है। उन्होंने इसी के साथ कहा कि चुनाव आयोग का जो फैसला आएगा उन्हें मंजूर है। मैंने पार्टी को साईकिल को बचाने की हर कोशिश की, लेकिन अखिलेश ने मेरी नहीं सुनी, तब मैंने उसके खिलाफ लड़ने का फैसला किया। 

मुलायम सिंह यादव ने कई बार पार्टी को टूटने से बचाने के लिए यूपी के मुख्यमंत्री और बेटे अखिलेश यादव के साथ बैठक की, लेकिन यह बैठकें हमेशा बेनतीजा रहीं। अखिलेश जहां 3 महीने के लिए पार्टी अध्यक्ष पद और टिकट बंटवारे की मांग पर अड़े रहे तो मुलायम हर हाल में पार्टी के अध्यक्ष पद से हटने को तैयार नहीं थी।

आज चुनाव आयोग को तय करना है कि दोनों में से किसको पार्टी का चुनाव चिन्ह साईकिल दी जाए, या फिर दोनों को नए चुनाव चिन्ह के साथ मैदान में उतरना होगा। मुलायम सिंह यादव ने भी आज साफ कर दिया है कि चुनाव आयोग का जो फैसला आएगा उन्हें मंजूर है।