जेल में ही रहेंगे मुख्तार अंसारी, हाईकोर्ट ने रद्द की पेरोल

नई दिल्ली (27 फरवरी): उत्तर प्रदेश के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी को बड़ा झटका लगा है। दिल्ली हाईकोर्ट ने चुनाव प्रचार के लिए अंसारी को 4 मार्च तक के लिए कस्टडी पैरोल देने के निचली अदालत के आदेश को रद्द कर दिया है। हाइकोर्ट ने चुनाव आयोग की याचिका पर यह फैसला दिया है।

इससे पहले हाईकोर्ट ने 22 फरवरी को अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया था जिसमें अंसारी को जेल से बाहर न जाने देने की मांग की गई थी। आयोग ने अंसारी को निचली अदालत से मिली कस्टडी पैरोल को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी।

अंसारी ने अपना पक्ष रखते हुए चुनाव आयोग की याचिका को खारिज करने की मांग की थी। आयोग ने निचली अदालत द्वारा अंसारी को 4 मार्च तक चुनाव में प्रचार करने के लिए कस्टडी पैरोल दिए जाने के फैसले को रद्द करने की मांग की थी। निवर्तमान विधायक अंसारी ने हाल ही में बीएसपी में शामिल हुए हैं और मउ विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं।

वीडियो: