दिल गार्डेन-गार्डेन करने के लिए करिए मुगल गार्डेन की सैर

 

राजीव रंजन, नई दिल्ली (12 फरवरी): दिल्ली का मुगल गार्डेन आज से आम लोगों के लिए खुल गया। 19 मार्च तक हर रोज आम लोग इस गार्डन की में समय बिता सकेंगे। इस बार मुगल गार्डेन में खास तौर पर ट्यूलिप के फूल मंगाए गए हैं।

विश्व प्रसिद्ध भारतीय मुगल गार्डन को आम जनता 19 फरवरी तक ही देख सकेगी। मुगल गार्डन के खुलने का इंतज़ार भारतीयों को साल भर रहता है। यहां तरह-तरह के फूल और दुर्लभ प्रजाति के पेड़-पौधों और ऐसी जड़ी बूटियों का दीदार करने का मौका मिलता है, जो आमतौर पर देखने को नहीं मिलते हैं। इसे देखने के लिए हर साल हजारों लोग आते हैं। 

बसंत पंचमी के दिन खुलने वाले इस खूबसूरत बगीचे में आम लोग सुबह साढ़े नौ से शाम चार बजे तक समय बिता सकेंगे। इस बार खास तौर पर मुगल गार्डन में 'फेस्टिवल ऑफ इनोवेशन' का आयोजन किया जा रहा है। इसमें भारत के अलग-अलग स्थानों पर फूलों की नई प्रजातियों को तैयार करने वाले लोगों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए मंच प्रदान किया जाएगा।

गौरतलब है कि दर्शक मुगल गार्डन के जरिये कई दुर्लभ फूलों की प्रजातियों को देख पाते हैं। मुगल गार्डन स्कूली छात्रों के लिए पसंदीदा जगहों में से एक है। इसके साथ भारतीय आयुर्वेद में इस्तेमाल की जाने वाली जड़ी बूटियां, जैसे कि अश्वगंधा, इश्वगोल, ब्रह्मी, पुदीना और तुलसी आदि का भी प्रदर्शन किया जायेगा।

इस बार मुगल गार्डन में ट्यूलिप फूल आर्कषण का केंद्र रहेंगे, जिनकी मनमोहक छटा देखने लायक होगी। राष्ट्रपति भवन के मुगल गार्डन में सात रंगों के 12 हजार ट्यूलिप फूल हैं, जो कि दुनिया के किसी भी गार्डन में नहीं है।

इन्हें दर्शकों के लिए नीदरलैंड से मंगवाया गया है, जिनमें लाल, गुलाबी, बैंगनी, सफेद, पीला, हल्का लाल व बीच में सफेद और नारंगी रंग खास तौर पर हैं।