धोनी का सॉफ्टवेयर ठीक है लेकिन हार्डवेयर में वो बात नहीं है

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 जनवरी):  महेंद्र सिंह धोनी ने हाल ही में संपन्न हुई ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ में बेहतरीन  प्रदर्शन करते हुए टीम इंडिया को सीरीज जीतने में मदद की थी। धोनी ने इस सीरीज के तीनों मैचों में अर्धशतक लगाए और दो बार नाबाद लौटे। इसी शानदार प्रदर्शन के चलते उन्हें 'मैन ऑफ डा सीरीज' का अवार्ड दिया गया। लेकिन इस सीरीज के पहले वनडे में काफी धीमी बैटिंग की थी, जिसकी वजह से कई सवाल उठे थे।

इसी बीच उनकी सभी पारियों में प्रदर्शन को आंकते हुए पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने कहा है कि आजकल एमएस धोनी का सॉफ्टेयर तो अच्छा काम कर रहा है लेकिन हार्डवेयर में पहली जैसी बात नहीं रही। मांजरेकर ने सॉफ्टवेयर उनके दिमाग को कहा है और बताया कि उनका दिमाग पहले की ही तरह से तेजी से काम कर रहा है और उन्हें पता है कि कहां कौन सी चीज करनी है लेकिन हार्डवेयर यानी तेजी से शॉट लगाने वाली काबिलियत पहली जैसी नहीं रही।

संजय ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बातचीत में कहा, "धोनी साफतौर पर अपने शीर्ष पर नहीं हैं. सॉफ्टवेयर- उनका इरादा, उनका दिमाग पहले की तरह तेजी से काम कर रहा है। उन्हें पता है कि क्या करने की जरूरत है लेकिन हार्डवेयर उतनी तेजी से काम नहीं कर रहा है। उनका हार्डवेयर 5-10 साल पहले बेहतर था। वह चाहकर छक्के लगाते थे, लेकिन अब उनके पास वह काबिलियत या यकीन नहीं है लेकिन फिर भी वह आखिर तक क्रीज पर जमे रहते हैं।"

पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर और एक्टिव कॉमेंटेटर संजय मांजरेकर ने धोनी के गेम के एक अन्य पहलू पर बातचीत करते हुए कहा कि वह उनकी इस बात की तारीफ करते हैं कि वह गेम को आखिर तक ले जाते हैं और विपक्षी गेंदबाजों पर दबाव डालते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर जावेद मियांदाद भी ऐसे ही किया करते थे।