जब छक्का मारने के बाद रोने लगे थे धोनी

नई दिल्ली (5 नवंबर): टीएम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को कैप्टन कूल कहा जाता है। मैदान पर टीएम की अच्छी स्थिति हो या फिर मुश्किल से मुश्किल हालात धोनी के चेहरे पर किसी तरह का भाव नहीं दिखता वो लगातार मैच और गेम प्लान के बारे में सोचते रहते हैं। मैदान पर मौजूद हर खिलाड़ी पर उनकी पैनी नजर रहती है। कुछ लोग तो उन्हें मैदान पर इमोशन लेस इंसान तक का तगमा दे चुके हैं। लेकिन ये पूरी तरह से सच नहीं है।

कई ऐसे मौके भी आए जब फिल्ड पर धोनी इमोशनल हुए, आक्रमक हुए। लेकिन मैच को कवर रहा कैमरा धोनी के इस इमोशन को कैप्चर नहीं कर सका। इस बात खुद धोनी ने खुलासा किया है। 2011 में भारत ने 28 साल बाद भारत विश्व कप जीता था। श्रीलंका के खिलाफ फाइनल में कप्तान धोनी विजयी छक्का मारकर टीएम इंडिया को वर्ल्ड कप दिलाया था। वो ऐतिहासिक दिन हर किसी को याद है। उस दिन को लेकर एमएस धोनी ने बड़ा खुलासा किया है।

7 साल बाद धोनी ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया है कि विनिंग शॉट मारने के बाद उनकी आंखों में आंसू आ गए थे और वे खुशी के आंसू थे। किसी कैमरे ने धोनी की आंखों में मौजूद आंसुओं को कैद नहीं किया, लेकिन पूर्व कप्तान उस वक्त इतने भावुक हो गए थे कि वे रो पड़े थे। धोनी इस बात का खुलासा वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई की किताब ‘डेमोक्रेसी- XI’ में किया है।