MP: टीचर को नहीं आता वन, टू और थ्री लिखना

नई दिल्ली (24 मई): मध्यप्रदेश के सिंगरौली से शिक्षा व्यवस्था की बदहाली की बेहद हैरान करने वाली घटना सामने आई है। स्कूलों में बच्चों को शिक्षा का ज्ञान देने वाले अध्यापकों के क्या हाल हैं, देखकर आप हैरान रह जाएंगे। एक सरकारी शिक्षिका अपने ट्रांसफर कराने के आवेदन को लेकर डीएम के पास आई तो डीएम ने उनसे कुछ सवाल पूछ दिए।मैडम अपने ट्रांसफर का आवेदन लेकर डीएम साहब के दफ्तर पहुंची थी, लेकिन डीएम ने ट्रांसफर से पहले ही टीचर से कुछ सवाल पूछ डाले जिसके बाद जो जवाब सामने आया उसने मध्य प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था की बदहाली को बेनकाब कर दिया। आप ये जानकर हैरान हो जाएगे और अफसोस भी करेंगे डीएम साहब के कहने पर ये महिला टीचर वन टू और थ्री की स्पेलिंग तक नही लिख पाई।टीचर के के बाद डीएम साहब ने मध्य प्रदेश लिखने को कहा, लेकिन मध्य प्रदेश की जो स्पेलिंग इस टीचर ने लिखी उसे देखकर डीएम साहब का माथा चकरा गया। आप ये जानकर हैरान हो जाएगी कि सिंगरौली की इस टीचर ने मध्यप्रदेश की स्पेलिंग भी गलत लिखी थी, टीचर ने मध्य प्रदेश को मद्य प्रदेश लिख दिया था, यानि की शराब प्रदेश। टीचर की इस अद्भभुत प्रतिभा को सुनने के बाद डीएम साहब इतने ज्यादा नाराज हो गए कि अधिकारियों को टीचर को पहले रिहैबिलटेशन सेंटर भेजने की वकालत कर डाली।जरा सोचिए जो छात्र वन और टू की स्पेलिंग ओएनए और टीओटी पढेगा जो मध्य प्रदेश को मद्य प्रदेश लिखेगा, उसका भविष्य क्या होगा। डीएम की अग्निपरीक्षा में फेल हुई टीचर को निलंबित करने का आदेश दे दिया गया है, लेकिन इस खुलासे ने उस कड़वी हकीकत को भी बेनकाब कर दिया है जो हमारी शिक्षा व्यवस्था को दीमक की तरह चाट रहा है।