'सऊदी अरब शैली के इस्लाम को भारत में पनपने से रोकें'

नई दिल्ली (1 नवम्बर): युवाओं को आतंकवाद की ओर प्रेरित करने के आरोपी जाकिर नाइक पर कार्रवाई के बीच राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को खत लिखकर अपील की है कि विदेशी योगदान नियमन अधिनियम (एफसीआरए) नियमों की समीक्षा कर इन्हें सख्त बनाया जाए। सऊदी शैली के इस्लाम को रोकने के लिए धार्मिक संगठनों को मिल रहे विदेशी धन पर लगाम लगाने की मांग करते हुए कहा है कि स्वास्थ्य, कौशल विकास जैसी चीजों के लिए ही दान लेने की छूट दी जाए, जिसकी जांच की जा सके। 

उन्होंने विदेशी योगदान नियमन अधिनियम (एफसीआरए) की एक ताजा रिपोर्ट का हवाला दिया है, जिसके मुताबिक रूढ़ीवादी गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) को पिछले तीन साल में इस्लामिक देशों से 134 करोड़ रुपये का दान प्राप्त हुआ है। इन देशों से यह दान आमतौर पर बिल्डिंग, स्कूल, अनाथालय और मदरसा बनाने के लिए आता है। हालांकि, भारत में ऐसे कई संगठन सलाफी विचारधारा (सऊदी शैली का इस्लाम) पर चल रहे हैं, जोकि सूफी इस्लाम के खिलाफ है।