पुंछ में शहीद हुए चंबल के सपूत को श्रद्धांजलि, भाई बोला- पाकिस्तान को नक्शे से मिटा दो


मुरैना (14 अगस्त): पाकिस्तान की नापाक हरकत में शहीद हुए नायब सूबेदार जगराम सिंह तोमर का आज पूरे सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। नायब सूबेदार जगराम सिंह तोमर जम्मू के पुंछ सेक्टर पर पाकिस्तान की फायरिंग में शहीद हो गए थे। शहीद जगराम को अंतिम विदाई देने के लिए पूरा गांव उमड़ पड़ा। ग्वालियर से पार्थिव देह को सुबह पैतृका गांव तरसमा लाया गया, इस दौरान सड़क के दोनों ओर श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों की भीड़ लगी थी। अंतिम संस्कार में मंत्री रुस्तम सिंह के साथ जिले के कलेक्टर और अन्य अधिकारी शामिल हुए।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से शहीद जगराम सिंह तोमर के परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि सौंपी जाएगी। परिवार को प्रदेश सरकार की ओर से एक मकान अथवा फ्लैट और परिवार के एक सदस्य को योग्यतानुसार शासकीय नौकरी दी जाएगी। 

शहीद जगराम को रक्षा बंधन पर अपने घर आना था। लेकिन जगराम के भाई मंगल सिंह के मुताबिक उनका अभी हाल ही में प्रमोशन हुआ था। इस वजह से जगराम सिंह को अवकाश नहीं मिला। जगराम अगले महीने आने के लिए कह रहे थे। चूंकि उनकी ड्यूटी ऐसे क्षेत्र में थी जो काफी संवदेनशील है। इसलिए परिवार के लोग उनकी सलामती के लिए प्रार्थना करते रहते थे। जगराम के दो भाई सेना से ही रिटायर हुए हैं। साथ ही उनके परिवार में उनकी पत्नी ओमवती देवी, दो बेटिया 18 साल की खुशबू व 14 साल की रोशनी व एक बेटा 9 साल का नीरज है।