टीचर्स डे पर प्रोफेसर से बोले विधायक- मैं तेरे बाप का नौकर हूं, जो मेरा नाम नहीं बोला

नई दिल्ली(6 सितंबर): ए...इधर आ। कौन है तू? मैं तेरे बाप का नौकर हूं जो तूने मेरा नाम नहीं बोला। बताऊं क्या तुझे! टीचर्स डे के दिन दिमनी के बसपा विधायक बलवीर दंडोतिया ने एक प्रोफेसर से इस तरह की अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। 

- विधायक गर्ल्स कॉलेज में स्मार्टफोन बांटने के प्रोग्राम में पहुंचे थे।

- इस दौरान हायर एजुकेशन मिनिस्टर जयभान सिंह पवैया और हेल्थ मिनिस्टर रुस्तम सिंह भी मौजूद थे।

- लेकिन किसी ने विधायक के व्यवहार पर एतराज नहीं जताया, बल्कि मिनिस्टर पवैया ने विधायक को जायज ठहराते हुए प्रिंसिपल से कहा कि जनप्रतिनिधि का नाम पुकारें तो सम्माननीय, माननीय लगाना चाहिए।

विधायक का नाम लेना भूल गए थे प्रोफेसर

- प्रोग्राम के दौरान मंच का संचालन कॉलेज के प्रोफेसर डाॅ. जेके मिश्रा कर रहे थे।

- स्वागत भाषण के दौरान उन्होंने मिनिस्टर के बाद कलेक्टर व अन्य अफसरों का नाम पुकारा, लेकिन विधायक दंडोतिया का नाम लेना भूल गए।

- इस बात पर विधायक खफा हो गए। उन्होंने माइक संभाला और मंच से ही प्रो. मिश्रा को अपशब्द कहना शुरू कर दिया।

- हालांकि बाद में कहा- ''संचालनकर्ता ने मेरा नाम नहीं लिया तो मुझे गुस्सा आ गया। मुझे पत्र देकर बुलाया है तो अपमान क्यों कर रहे हो। मैंने इतना कहा कि तुम क्या चाहते हो, अभी बताऊं क्या।''

माल्यार्पण करवाया, तब शांत हुआ विधायक का गुस्सा

- विधायक को नाराज देख प्रोफेसर ने सफाई दी कि उनका नाम लेना भूल गए।

- फिर प्रोफेसर ने माइक संभालते हुए चार-पांच लोगों से विधायक को मालाएं पहनवाईं, तब दंडोतिया शांत हुए।

- प्रोफेसर ने कहा, ''मंच संचालन करते समय मैं क्रम से सभी के नाम ले रहा था। दिमनी विधायक बोलने ही वाला था कि उन्होंने टोक दिया। शायद उन्हें लगा होगा कि मैं अनदेखा कर रहा हूं। मैंने उनसे माफी मांगी ली थी।''