मध्य प्रदेश सरकार का एलान, स्कूलों में रानी ''पद्मावती'' को पढ़ाया जाएगा

नई दिल्ली ( 23 नवंबर ): संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की रिलीज डेट टलने के बाद भी विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब के बाद अब गुजरात में भी पद्मावती पर बैन लगा दिया गया है।

इस बीच मध्य प्रदेश सरकार ने तो पद्मावती को पाठ्यक्रम में शामिल करने का एलान कर दिया है। इतना ही नहीं मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में बेहतर काम करने वालों को हर साल 'राष्ट्रमाता पद्मावती पुरस्कार' देने की घोषणा भी की है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 'राष्ट्रमाता महारानी पद्मावती को अगले पाठ्यक्रम से स्कूलों में पढ़ाया जाएगा।' शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 'हमारे बच्चों को उनकी महानता के बारे में किताबों से पता चल जाएगा और विकृतियों पर निर्भर नहीं होंगे।'

इससे पहले शिवराज ने संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को मध्य प्रदेश में रिलीज न करने का ऐलान किया था। राजपूत समाज के प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के दौरान शिवराज ने पद्मावती को 'राष्ट्रमाता' बताते हुए ऐलान किया था कि पद्मावती के सम्मान के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जा सकता, लिहाजा उन पर बनी फिल्म का प्रदर्शन राज्य में नहीं होगा।