कर्ज माफी का तो सवाल ही नहीं, क्यों करेंगे कर्ज माफ: कृषि मंत्री गौरीशंकर

दिल्ली ( 10 जून): मध्य प्रदेश किसानों के आंदोलन की आग में एक तरफ जल रहा है, तो वहीं शिवराज सरकार के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने इस पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने साफ किया है, चाहे किसान कितने भी उग्र हो जाएं उनका कर्ज माफ नहीं होगा। उन्होंने कहा- मध्य प्रदेश में किसान का कर्ज माफ करने का मतलब ही नहीं बनता, जब हमने किसाने से ब्याज नहीं लिया तो किस बात का कर्ज माफ होगा।


उन्होंने कहा कि मैं कर्ज माफ करने के पक्ष में कभी नहीं था और न ही अब हूं। उन्होंने कहा, 'एमपी में किसान की कर्ज का स्‍थान नहीं बनता। यह इसलिए नहीं बनता क्‍योंकि आज हम ब्‍याज नहीं बल्कि सामग्री में मूलधन पर 10 प्रतिशत कम ले रहे हैं जब हमने किसान से ब्‍याज ही नहीं लिया, हमने जब किसान पर ब्‍याज ही नहीं लगने दिया तो किस बात का कर्ज माफ होगा?'


बता दें कि मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में पिछले दस दिनों से किसान आंदोलन की आग फैली हुई है। ये मामला मंदसौर से शुरू हुआ, जहां पुलिस फायरिंग में करीब 6 किसानों की मौत हो गई। इसके बाद गुस्साए किसानों ने आंदोलन को और बढ़ा दिया। मंदसौर के अलावा मध्य प्रदेश के सीहोर, फंदा और कई जगहों पर किसान लगातार विरोध कर रहे हैं।


अनशन के दौरान सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि जब भी ओला, पाला या कोई संकट आया मैं सीएम हाउस में नहीं बैठा, खेतों तक गया, आपके बीच गया। सीएम ने कहा कि आज पूरे मप्र के किसान भाइयों से कह रहा हूं। तुअर की दाल रु 5050 प्रति क्विंटल की दर से 10 जून से खरीदेंगे।