टूटा ऐतिहासिक 'हिलरी स्टेप', अब एवरेस्ट फतह हुआ और खतरनाक

काठमांडू (22 मई): दुनिया की सबसे ऊंची और दुर्गम चोटी माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई अब और मुश्किल हो गया है। बताया जा रहा है कि यहां ऐतिहासिक हिलरी स्टेप टूट गया है। यहां के मुख्य रास्ते पर स्थित एक ऊंची और ढालू चट्टान ढह गई है। बताया जा रहा है कि  इस क्लिफ के गिरने से पर्वतारोहियों के लिए एवरेस्ट पर चढ़ना तो आसान हो गया है लेकिन यह रास्ता पहले की तुलना में और ज्यादा खतरनाक हो गया। इस क्लिफ फेस को हिलरी स्टेप के नाम से जाना जाता था। 1953 में पहले-पहल सर एडमंड हिलरी व तेनजिंग नोर्गे ने एवरेस्ट पर पांव रखा था। सर एडमंड हिलरी की याद में ही इस क्लिफ फेस का नाम हिलरी स्टेप रखा गया था। माना जा रहा है कि 2015 में नेपाल में आए भीषण भूकंप में यह चट्टान गिर गई।

यह हिलरी स्टेप दक्षिणपूर्वी चोटी के पास स्थित था। 12 मीटर का यह पत्थर नेपाल के रास्ते से जाने वाले एवरेस्ट के मुख्य मार्ग में तकनीकी रूप से सबसे मुश्किल पड़ाव माना जाता था। पिछले साल गर्मियों में जब पर्वतारोही एवरेस्ट की चढ़ाई के लिए पहुंचे, तो हिलरी स्टेप को अपनी जगह पर न देखकर उन्हें लगा कि शायद भूकंप के कारण चट्टान में बदलाव आया है। भारी बर्फबारी के कारण पर्वतारोही यह नहीं देख सके कि यह बदलाव कितना और किस तरह का है। अब एक ब्रिटिश पर्वतारोही टिम मूज़डेल ने अपने फेसबुक पेज पर हिलरी स्टेप के ढह जाने की पुष्टि की है।