पति के इलाज के लिए मां ने 15 दिन के बेटे को 42 हजार में बेचा

बरेली(2 जनवरी): हाफिजगंज के गांव ढकिया में सोमवार को एक मां ने पति के इलाज के लिए अपने 15 दिन के बच्चे को 42 हजार रुपए में बेच दिया। बच्चे का पिता मजदूर है। 

-बच्चे के पिता हरस्वरूप मौर्य ने कहा- "बेचते नहीं तो क्या करते। हमारे पास कोई चारा नहीं था। इलाज नहीं हो सका, अब पैरों ने काम करना बंद कर दिया है। नौकरी करने के लायक नहीं बचा हूं।"

9 अक्टूबर को काम करते वक्त एक निर्माणाधीन मकान की दीवार का एक हिस्सा हरस्वरूप मौर्य के ऊपर गिर गया था, जिसमें वो गंभीर रूप से घायल हो गया था। इस घटना के बाद से कमर के नीचे का हिस्से ने काम करना बंद कर दिया। पैसों की कमी की वजह से इलाज ठीक से नहीं हो रहा था। घर में अकेले कमाने वाले हरस्वरूप के बीमार होने से परिजन के सामने पैसे की परेशानी आने लगी।

इस बीच 14 दिसम्बर को हरस्वरूप की पत्नी संजू ने तीसरे बेटे को जन्म दिया। इस दंपति को मदद की उम्मीद थी, न ही पति के हालत सुधरने की आस। मां ने अपने कलेजे के टुकड़े को 42 हजार रुपए में में बेच दिया, ताकि बीमार पति का इलाज का सके।