जेल से भागे बेटे को थाने लेकर पहुंची यह मां...

भूपेंद्र सिंह, साबरमती (28 जुलाई): वो अपराधी 7 हज़ार वॉट करंट वाली तारों की परवाह न करते हुए 20 फीट ऊंची दीवार को फांदकर फरार हुआ। पुलिस के हत्थे तो नहीं चढा, लेकिन खुद उसकी मां ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। गुजरात की सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली जेल की तो पोल खुल गई, लेकिन साबरमती की इस मां ने भी कमाल कर दिया।

दरअसल मामला गुजरात के साबरमती का है, जहां 20 साल के नौजवान कैदी प्रवीण ने जेल की सुरक्षा और क्राइम ब्रांच के सभी नेटवर्क की पोल खोल कर रख दी। उसने पूरी प्लानिंग के साथ 7 हज़ार वॉट करंट वाली जेल की फेंसिंग की भी परवाह नहीं की। 20 फीट ऊंची दीवार कूदकर वो भागा, उसने सिर्फ इसलिए इतना जोखिम उठाया ताकि भागकर वो जुएं में खूब पैसे जीत सके।

पुलिस जांच से ज्यादा मां की ममता असरदार रही। प्रवीण ने भागकर मां को फोन किया था। हालांकि पुलिस पहले ही उसके घर छापा मार चुकी थी, लेकिन वो उस समय वहां नहीं था। पुलिस ने उसकी मां को नंबर्स जरूर दिए थे। प्रवीण ने मां को फोन किया कि वह कलोल में अपनी महिला दोस्त के यहां छुपा है। उसकी मां फ़ौरन कलोल भागी और प्रवीण को जेल से भागनें पर फटकार लगाई। प्रवीण अपनी मां को बेइंतेहा प्यार करता था, मां के आगे उसकी एक न चली। जो जोखिम उठाकर वो जेल से भागा था वो भी अब मां के प्यार के आगे कुर्बान था। मां के कड़े फैसले के आगे वो झुक गया।

पुलिस के मुताबिक प्रवीण जुए का माहिर खिलाड़ी है और गुजरात में जन्माष्टमी के अवसर पर जुए खेलने का चलन है। प्रवीण भी इस दौरान जुआ खेल काफी पैसे कमाने की फ़िराक में था और इसीलिए उसने जेल से भागने का फैसला लिया, लेकिन सही और ग़लत का फर्क बताने वाली, अपने बच्चे को इंसानियत की राह दिखाने वाली मां ने अपने कलेजे पर पत्थर रखकर उसे वापस जेल भेजा और एक नई मिसाल कायम की।