मां ने खोला बेटी का बेडरूम और बिस्तर देखते ही उसने खो दिया होश

नई दिल्ली (22 नवंबर): इंदौर के बाणगंगा थाना क्षेत्र की शिवकंठ नगर निवासी युवती रानू की मां अपनी धेवती के साथ भगवत सुनने गयी थी। रानू की भाभी ज्वैलर्स की दुकान गयी हुई थी। रानू की मां जब बङगवत सुन कर वापस आयी और उसने रानू के कमरे का दरवाजा खोला तो उसकी चीख निकल गयी। रानू ने फांसी लगा ली थी। उसके कमरे में पलंग पर एक सुसाइड नोट मिला जिसमें जिक्र है कि एक युवक ने धोखा दिया है। उसने जीने लायक नहीं छोड़ा। पुलिस बयान व सुसाइड नोट के आधार पर आगे की कार्रवाई करेगी।

पुलिस के मुताबिक शिवकंठ नगर में रहने वाली 21 वर्षीय रानू पति विकास परमार ने कमरे में फांसी लगा ली। घटना के समय मां रानू की दो साल की बेटी को लेकर कॉलोनी में ही भागवत कथा सुनने गई थी। भाभी ज्वेलरी दुकान पर बैठी थी। मां जब लौटी तो घर के दरवाजे अंदर से बंद थे। बहू व पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोड़ा तो रानू फंदे पर मिली। परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।