"अमेरिका के राजनेताओं देख लो, ये तुम्हारे बच्चे किस स्थिति से गुज़र रहे हैं"

नई दिल्ली (22 जून) :  अमेरिका में एक मां का कलेजा मुंह को आ गया जब उसने हक़ीक़त जानी कि उसकी  तीन साल की बेटी टॉयलेट में क्या कर रही थी। ये बच्ची टॉयलेट में आतंकियों के बंदूक हमले के दौरान कैसे लॉकडाउन ड्रिल की जाए उसकी प्रैक्टिस कर रही थी।

द इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रेवर्स सिटी, मिशिगन की रहने वालीं स्टेसी फीले ने बेटी की फोटो फेसबुक पर अपलोड करने के साथ मर्मस्पर्शी पोस्ट लिखी है। स्टेसी ने कहा कि उन्होंने बेटी की फोटो पहले इसलिए लेनी चाही क्योंकि उन्हें लगा कि वो कुछ क्यूट चीज़ कर रही है। लेकिन जब बेटी ने बताया कि वो ऐसा क्यों कर रही है तो स्टेसी का रोना निकल पड़ा। बच्ची के मुताबिक उसे स्कूल में सिखाया गया था कि कोई बंदूकधारी प्रीस्कूल में घुस आए और वो टॉयलेट में हो तो उसे क्या करना है।

स्टेसी के मुताबिक वो पति को बेटी की शरारत दिखाने के लिए फोटो भेजना चाहती थीं, इसीलिए वो ये फोटो ले रही हैं। स्टेसी का कहना है कि हक़ीक़त जानकर उन्हें अचानक लगा कि उनकी तीन साल की बेटी के पास जो सारी मासूमियत थी वो चली गई है।

स्टेसी की पोस्ट को 26,000 से ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है। ये पोस्ट ओरलैंडो के गे नाइट क्लब में हमले में 49 लोगों के मारे जाने की घटना के तीन दिन बाद आई थी।   

स्टेसी ने पोस्ट में लिखा- "राजनेताओं- देखों...ये तुम्हारा बच्चा है, बच्चे हैं, पोते हैं, पड़पोते हैं और भविष्य की आने वाली पीढ़ियां हैं। वो अपनी जिंदगी जिएंगे और बड़े होंगे उस दुनिया में जो आपके फैसलों पर आधारित हैं। वो सिर्फ 3 साल के हैं और खुद को बॉथरूम स्टॉल्स में छुपा रहे हैं टॉयलेट की सीट्स पर खड़े होकर। मैं नहीं जानती कि उनके लिए क्या ज़्यादा मुश्किल होगा। लंबे समय तक मुंह सिले रखना। या टॉयलेट की सीट पर पैरों का संतुलन बनाए रखना।"  

स्टेसी ने राजनेताओं से जहां बंदूकों पर नियंत्रण के लिए सख्त कदम उठाने के लिए कहा, वहीं टेक्नोक्रेट्स से स्मार्ट गन्स विकसित करने की अपील की।