'अपनी ही बेटियों से सेक्स स्लैव्स जैसा सलूक करती थी मां'

नई दिल्ली (7 जनवरी): लंदन की एक कोर्ट में तीन किशोरियों की आपबीती सुनकर जज सहित अदालत में मौजूद हर आदमी के रौंगटे खड़े हो गये। इन किशोरियों ने बताया कि ब्रोथल चलाने वाली उनकी सगी मां उनके साथ भी सेक्स स्लेब्स जैसा सुलूक करती थी। दिन में उन्हें टॉयलेट में बंद कर दिया जाता था और शाम होते ही उनके जिस्म की बोली लगाई जाने लगती थी। विरोध या मना करने पर चमड़े की बेल्ट और बैंत से पिटाई दी जाती थी। जिस रात कोई ग्राहक नाराज हो जाता तो पिटाई के अलावा अगले तीन-तीन दिन तक खाना-पानी बंद कर दिया जाता था।

लगभग 18 साल हो चुकी सबसे बड़ी लड़की ने बताया कि एक बार उनकी मां उन्हें बंद करके कहीं चली गयी और कई दिन तक आयी ही नहीं। इस दौरान उन्हें अपना यूरीन पी कर जिंदा रहना पड़ा था। इन तीन लड़कियों में सबसे छोटी महज 10 साल की है। इस कलियुगी मां ने उसे सात साल की उम्र से धंधे में धकेल दिया था। कोर्ट के सामने मां और ब्रोथल चलाने में उसकी मदद करने वाले दो आदमी भी कोर्ट के सामने पेश किए गये। तीनों किशोरियों के बयान दर्ज करने के बाद जज ने कहा कि यह मामला बच्चों के साथ अत्याचार का ही नहीं बल्कि उससे भी जघन्य है। कलियुगी मां और उसके साथियों को मार्च में सजा सुनाई जायेगी।