शहीद दीपक जगन्नाथ का पार्थिव शरीर पहुंचा उनके गांव

सतारा (11 मार्च): पाकिस्तान की नापक हरकत की वजह से जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए जांबाज जवान दीपक जगन्नाथ घाड़गे का पार्थिव शरीर अंत्योष्टि के लिए महाराष्ट्र के सतारा के उनके पैतृक गांव फातियापुर लगाया गया है। पुंछ जिले की नियंत्रण रेखा पर गुरुवार को हुई गोलीबारी में घाडगे के सिर गोली लग गई थी। वह 15 मराठा लाइट इन्फैंट्री के सिपाही थे। सेना के मुताबिक पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा की कृष्णा घाटी सेक्टर में ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी थी, जिसकी जद में आकर दीपक शहीद हो गए।

वह सतारा जिले में अपने बुजुर्ग माता-पिता, जगन्नाथ और शोभा, पत्नी निशा, बेटे शंभू (4) और एक वर्षीय बेटी परी के साथ रहते थे। इसके अलावा उनकी एक शादीशुदा बहन भी है। गुरुवार को उनके शहीद होने की खबर आने के बाद से लगभग 1600 निवासियों वाले गांव में सन्नाटा पसरा है, शुक्रवार को पूरे गांव की दुकानें शोक में बंद रहीं।