मध्य प्रदेश में भारी बारिश, कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात, 11 लोगों की मौत

गोविंद गुर्जर, नई दिल्ली (9 जुलाई): मध्य प्रदेश में तेज़ बारिश की वजह से कई जिलो में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। इस आफत की बारिश में 11 लोगों के मारे जाने की खबर है। जबकि, हजारों लोग बेघर हो गए हैं। भोपाल, सतना, रीवा, जबलपुर, विदिशा, रायसेन और सागर में जनजीवन अस्तवयस्त हो गया है। सतना में भारी बारिश की वजह से पानी घरों में घुस गया है। 

उफान पर नदियां भारी बारिश की वजह से नर्मदा, पार्वती, चंबल, केन, तवा, तमस और सुनार नदियां उफान पर हैं। इससे कई मार्गों पर आवागमन प्रभावित हो गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भोपाव के बाढ़ प्रभावित इलाकों में खाने के पैकेट बांटे गए। 

इमरजेंसी नंबर - 1079 मानसून की पहली बारिस से बिगड़े हालात से निपटने के लिये राज्य सरकार ने कंट्रोल रूम स्थापित कर दिया है। इसका नंबर 1079 है। इस नंबर के जरिये आपत स्थिति में फोन कर संपर्क किया जा सकता है।

भारी बारिश का एलर्ट मौसम विभाग ने राज्य के कई जिलों विदिशा, जबलपुर, रायसेन, हौशंगाबाद और बेतूल समेत कई ज़िलों में अगले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश की संभावना जताई है। ऐसे में इन सभी जिलों के अधिकारियों को एलर्ट कर दिय गया है।

सेना का सहारा मध्य प्रदेश के सतना में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए और उन तक राहत सामग्री पहुंचाने के लिए नाव की मदद लेनी पड़ रही है। हालात यह है कि बस्तियों और गांव में नाव चल रही है और मदद के लिए सेना भी बुलाई गई है। सतना जिले में तीन दिनों में हुई बारिश ने यहां के जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित कर दिया है।

देखिए न्यूज़24 की रिपोर्ट...

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=jJQrRO9g8rE[/embed]