सिक्किम में तेज बारिश और भूस्खलन में फंसे 250-300 पर्यटक, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

Sikkim

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 जून): सिक्किम में तेज बारिश और भूस्खलन में फंसे ढाई सौ से ज्यादा सैलानियों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है। ये लोग उत्तरी सिक्किम के जीमा में फंस गए थे। इन्हें पुलिस और जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स के जवानों ने सुरक्षित जगहों तक पहुंचाया। तेज बारिश और भूस्खलन के बीच सिक्किम के जिमा में 250 से 300 पर्यटक फंस गए थे। चुंगथांग में भारी बारिश हो रही है। चुंगथांग-लाचेन-थांगू के बीच सड़क बंद है। इस कारण पर्यटक फंस गए।  फिलहाल लाचेन पुलिस पर्यटकों का रेस्क्यू करने में जुट गई है। तीन स्थानों से कई पर्यटकों को लाचेन लाया जा रहा है।

मानसून के दस्तक के साथ ही देश के कई हिस्सों में बारिश हो चुकी है। इसी कड़ी उत्‍तर सिक्किम में भारी बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। एजेंसी स्काईमेट वेदर ने बताया है कि उत्तरी आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में गरज-चमक और तेज हवाओं के साथ बारिश जारी है। कुछ जगहों पर मध्यम तो कुछ जगहों पर भारी बारिश हो रही है। आंध्र प्रदेश के अलावा तेलंगाना और तमिलनाडु में भी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। केरल के पश्चिमी तटीय हिस्सों सहित कर्नाटक, गौवा और महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में मध्यम से भारी बारिश दर्ज की गई है।

Sikkim

हालांकि, देश में मानसून की धीमी चाल बनी हुई है। मौसम का हाल बताने वाली एजेंसी स्काईमेट के पूर्वानुमान के मुताबिक जून के आखिरी सप्ताह या जुलाई के पहले पखवाड़े में मानसून की झमाझम बारिश हो सकती है। यह बारिश खरीफ फसलों की बोआई के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। दक्षिण-पश्चिम मानसून के धीमे होने के कारण अब तक होने वाली बारिश में 43 फीसद की कमी दर्ज की गई है। मानसूनी बादलों की चाल भी संतोषजनक नहीं रही है।