दिल्ली-NCR में आज और कल भारी बारिश की संभावना, ऑरेंज अलर्ट जारी

Delhi Rain

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (26 जुलाई): दिल्ली और एनसीआर के आसमान में पिछले कई दिनों बादल घुमड़ रहे हैं लेकिन ठीक से बरस नहीं रहे हैं। लेकिन यहां आज और कल भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने दिल्ली और एनसीआर में आज और कल भारी बारिश की संभावना जताई है और ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। भारतीय मौसम विभाग ने कहा है कि बुधवार से एक बार फिर दिल्ली और आसपास के इलाकों में बारिश होने के आसार हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, मानसून फिर से मजबूत हो गया है और ये दिल्ली की ओर तेजी से बढ़ रहा है। इसके चलते 25 और 26 जुलाई को भारी बारिश का अनुमान है। हालांकि, पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार में पहले से ही सामान्य से ज्यादा बारिश हुई है। ऐसे में अगले कुछ और दिनों में और बारिश होने से मुश्किलें बढ़ सकती है। 

Delhi rain

आपको बता दें कि कृषि मंत्री तोमर का कहना है कि मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक जून से सितंबर तक पूरे देश में सामान्य बारिश होने की संभावना है। खरीफ 2019 मौसम के दौरान अभी किसी भी राज्य सरकार ने सूखे के लिए आर्थिक मदद के लिए कोई जानकारी नहीं दी है। हालांकि मानसून में देरी हुई है, खरीफ फसलों की बुवाई शुरू हो चुकी है और इस स्तर पर उत्पादन गिरेगा, ऐसा अनुमान नहीं है। ऐसा नहीं है कि मानसून पूर्व कम बारिश से सूखे की स्थिति उत्पन्न होगी फिर भी सरकार स्थिति की पूरी निगरानी कर रही है और किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।

Delhi rain

भारी बारिश की चेतावनी-मौसम विभाग के मुताबिक, 25 और 26 जुलाई को मध्य प्रदेश, छत्तसीगढ़, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, उत्तर प्रदेश, हरियाण, चंड़ीगढ़, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, महाराष्ट्र और गोवा में भारी बारिश होने के आसार हैं। इसके अलावा विभाग ने हिमाचल में दो दिन भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। विभाग के ताजा पूर्वानुमान के मुताबिक, राज्य में 25 और 26 जुलाई को भारी बारिश होगी। प्रदेश में 28 जुलाई तक मौसम खराब रहने का भी अनुमान है। 

सांसदों को सूखे की चिंता-बीजेपी सांसद अजय मिश्र ने कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री से पूछा कि क्या सरकार ने सूखे की बढ़ी आशंका और बाजार पर इसके प्रभाव की संभावना और खतरे से निपटने के लिए कोई योजना बनाई है। जबकि तृणमूल कांग्रेस के सांसद प्रसून बनर्जी ने सवाल किया कि क्या देश के एक बड़े हिस्से में इस साल सूखा पड़ने का पूर्वानुमान है? और यदि हां तो सरकार कृषि-संकट से निपटने की क्या योजना बनाई है।

(Images Courtesy: Google)