Blog single photo

आगरा में मां की गोद से नवजात को छीन कर भागा बंदर, पटककर ले ली जान

यूपी के आगरा में में बंदरों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। बंदरो ने इस बार नवजात को दूध पिला रही एक मां से उसे छीन लिया और उसे फेंककर मार डाला। घटना सोमवार देर रात की है। पुलिस ने बताया कि आगरा के रुनकता इलाके में कछारा ठोक कॉलोनी है। यहां पर योगेश का घर है। योगेश ऑटो रिक्शा ड्राइवर हैं। उनकी नेहा से दो साल पहले शादी हुई थी। दोनों के घर में 12 दिन पहले एक नन्हा मेहमान आया था।

                                                      Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 13 नवंबर ): यूपी के आगरा में में बंदरों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। बंदरो ने इस बार नवजात को दूध पिला रही एक मां से उसे छीन लिया और उसे फेंककर मार डाला। घटना सोमवार देर रात की है।

पुलिस ने बताया कि आगरा के रुनकता इलाके में कछारा ठोक कॉलोनी है। यहां पर योगेश का घर है। योगेश ऑटो रिक्शा ड्राइवर हैं। उनकी नेहा से दो साल पहले शादी हुई थी। दोनों के घर में 12 दिन पहले एक नन्हा मेहमान आया था।नेहा रात में अपने 12 दिन के बच्चे आरुष उर्फ सनी को दूध पिला रही थीं। योगेश ने बताया कि घर का दरवाजा खुला था। तभी एक बंदर अचानक घर के अंदर घुस आया। नेहा कुछ समझ पातीं इससे पहले बंदर ने आरुष को गर्दन से उठा लिया और बाहर की ओर भागा। नेहा भी चिल्लाती हुई बंदर के पीछे भागीं। बंदर भागकर पड़ोसी की छत पर चढ़ गया।नेहा की आवाज सुनकर लोग घरों से बाहर निकले। सबने बंदर को भगाया तो वह आरुष को वहीं फेंककर भाग गया। नेहा ने बताया कि आरुष की गर्दन से काफी खून बह रहा था। वे लोग उसे पास के प्राइवेट अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। लोगों ने बताया कि आरुष को मारने से पहले बंदर ने इलाके की एक चौदह साल की बच्ची पर भी हमला किया था। बच्ची को भी चोटें आईं हैं।सब इंस्पेक्टर अतबीर सिंह ने कहा कि बच्चे का शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया था। पोस्टमॉर्टम में बच्चे के सिर और गले में घाव और चोटें मिली हैं। लोगों ने यह भी बताया कि इसी इलाके में कुछ दिनों पहले भी बंदर ने एक नवजात पर हमला किया था। हालांकि उस बच्चे को बचा लिया गया था।  

Tags :

NEXT STORY
Top