छेड़छाड़ पर महिला ने नहीं किया ये काम तो कोर्ट ने आरोपियों को किया बरी

मुंबई (4 जून): एक महिला से छेड़छाड़ के आरोपी को मुंबई की एक कोर्ट ने बरी कर दिया। हालांकि इसके पीछे कोर्ट ने एक तर्क भी दिया। कोर्ट ने कहा कि कोर्ट ने कहा कि घटना किसी सुनसान जगह पर नहीं हुई बल्कि ऐसे जगह पर हुई जहां चारों तरफ तमाम घर और लोग थे, जिनसे महिला परिचित थी। लेकिन फिर भी वह चिल्लाई नहीं।

महिला ने कोर्ट को बताया कि 22 दिसंबर 2014 को जब यह घटना हुई तो वह डर गई थी और घर में भाग गई। बाद में उसने इसकी जानकारी अपनी मां और दो बहनों को दी। उसके बाद उसने डिंडोशी पुलिस में शिकायत दर्ज की। अपनी शिकायत में महिला ने कहा कि आरोपी ने एक हाथ उसके बच्चे के गालों पर रखा और दूसरे हाथ से उससे छेड़छाड़ करने लगा। शिकायत के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

कोर्ट ने अपने फैसले में महिला के बदलते बयानों का जिक्र किया है। महिला ने कोर्ट में कहा कि घटना के वक्त आरोपी शराब के नशे में था, लेकिन उसने पुलिस में दर्ज कराई गई अपनी शिकायत में इसका कोई जिक्र नहीं किया था। कोर्ट ने कहा कि महिला के बयान विश्वसनीय नहीं हैं और संदेह पैदा करते हैं। कोर्ट ने यह भी कहा कि महिला ने बताया कि वह सलवार-कमीज पहनी हुई थी लेकिन जांच अधिकारियों ने बताया कि वह नाइट गाउन में थी।