फिर से लिखा जायेगा इतिहास, मेसोपोटामिया से पुरानी है मोहन जोदाड़ो सभ्यता

नई दिल्ली (29 मई): नयी तकनीकि से किये शोध से सामने आयी पुरातात्विक जानकारियां बताती हैं सिंधु घाटी की सभ्यता से भी एक हजार साल पहले एक सभ्यता यहां बसती थी। सिंधुघाटी सभ्यता अपने आप में मेसोपोटामिया और मिस्र की सभ्यता से काफी पुरानी है। आईआईटी खड़गपुर और एएसआई के वैज्ञानिकों के मुताबिक सिंधु घाटी की सभ्यता 8000 साल पुरानी है न कि 5500 साल,जैसा अभी तक माना जाता था।

ताजा शोध के मुताबिक सिंघु घाटी की सभ्यता मेसोपोटामिया और मिस्र की सभ्यता से भी पुरानी है। एएसआई वैज्ञानिकों का ये भी मानना है कि हडप्पा संस्कृति से 1000 साल पहले भी वह एक सभ्यता बसती थी। इस आश्य का एक शोध पत्र इसी हफ्ते 'नेचर'पत्रिका में  प्रकाशित हुआ है। इसमें दावा किया गया है कि सिंधु घाटी की सभ्यता मौसम में आए बदलाव के कारण नष्ट हुई थी। आईआईटी खडगपुर आनिन्दय सरकार के मुताबिक खुदाई में निकले बर्तनों की उम्र 8000 साल है।शोधकर्ताओं के मुताबिक सिंधु घाटी की ये सभ्यता सरस्वती नदी के किनारे तक बसी हुई थी लेकिन इस बारे में अधिक अध्ययन नहीं हो पाया था क्योंकि अभी तक हमारे पास जो जानकारियां हैं वो अंग्रेजों द्वारा कराई गई खुदाईयों के आधार पर ही हैं।