आरएसएस चीफ का नाम आतंकियों की सूची में डालना चाहती थी यूपीए सरकार

नई दिल्ली (15 जुलाई): मॉनसून सत्र शुरू होने से ठीक पहले ऐसे तथ्य सामने आए हैं जो विपक्ष को बैकफुट पर धकेल सकते हैं और सत्ता पक्ष उसे घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक अंग्रेजी न्यूज चैनल के  पास मौजूद दस्तावेजों के मुताबिक यूपीए सरकार अपने अंतिम दिनों में आरएसएस चीफ मोहन भागवत को आतंकवादियों की सूची में डालना चाहती थी। भागवत को 'हिंदू आतंकवाद' के जाल में फंसाने के लिए कांग्रेस की अगुवाई वाली सरकार के मंत्री कोशिश में जुटे थे।