देश को बांटने वालों से सावधान रहने की जरूरत- मोहन भागवत

वेद शुक्ला, इंदौर (6 अगस्त): आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि कुछ लोग भारत को मिटाने के प्रयास करते रहे, वो हमें वो मिटा तो नहीं पाए, लेकिन हमारे बीच में रच-बस जरुर गये हैं। हमें ऐसे उन लोगों और उनके जरिये देश को बांटने वालों से सावधान रहने की जरुरत है। 

- स्थानीय रवींद्र गृह में मोहन भागवत शिवाजी पर आधारित एक किताब के विमोचन कार्यक्रम में बोल रहे थे। 

- उन्होंने कहा कि हमारी परंपरा अतिथि देवो भव की है लेकिन लेकिन यदि कोई यह चाहेगा की वो हमें बदलकर हमारा प्रभु बन बैठेगा, तो उनके लिए यहां कोई जगह नहीं है। 

- भागवत ने नाम लिये बिना पाकिस्तान को खूब आड़े हाथ लिया।

- उन्होंने कहा कि वो बार-बार  हमारी छवि को नुकसान पहुंचाने के लिए तरह-तरह के जतन करता है। 

- पहले दोस्ती का हाथ बढ़ाने का कहता है, हम दोस्ती का हाथ बढ़ाते है तो वह कुछ न कुछ ऐसे हालात पैदा करता है, जिससे हमें हाथ पीछे खींचना पड़ता है। यह ज्यादा समय चलने वाला नहीं है।