मोहन भागवत की सरकार को सलाह, कहा- एयर इंडिया का विनिवेश हो लेकिन मालिकाना हक भारतीय के पास हो

नई दिल्ली (17 अप्रैल): एयर इंडिया में विनिवेश की खबरों के बीच संघ प्रमुख मोहन भागत ने केंद्र की मोदी सरकार को बड़ी सलाह दी है। संघ प्रमुख ने कहा है कि एयर इंडिया में विनिवेश हो लेकिन इसका मालिकाना हक किसी भारतीय के पास ही रहे।

मुंबई में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि एयर इंडिया को ठीक से नहीं चलाया जा रहा है। एयर इंडिया के पास बड़ी संपत्ति होने के बावजूद यह ठीक से नहीं चल रही है। उन्होंने जोर देकर कहा कि जो ठीक से काम कर रहे हैं, उन्हें ही एयर इंडिया को सौंप देना चाहिए। भागवत ने कहा कि देश में एयर इंडिया काफी महत्ता है, इसलिए जो इसे सही ढंग से चला सके, उसे ही इसकी जिम्मेदारी दी जानी चाहिए। उन्होंने अपनी राय जाहिर करते हुए साफ किया कि एयर इंडिया को चलाने वाला नया ऑपरेटर भारतीय ही होना चाहिए.।

बता दें कि एयर इंडिया लगातार घाटे में चल रही है। जिससे सरकार काफी चिंतित है और सरकार एयर इंडिया का निजीकरण पर विचार कर रही है। केंद्रीय मंत्रिमंडल एयर इंडिया के निजीकरण को मंजूरी दे चुका है। साथ ही एयर इंडिया में 49 फीसदी विदेशी निवेश को भी कैबिनेट की मंजूरी मिल चुकी है। सरकार साल 2012 से अब तक एयर इंडिया में करीब 23 हजार करोड़ रुपये की भारी पूंजी लगा चुकी है।