सईद भी चाहते थे कि बेटी महबूबा बने जम्मू-कश्मीर की अगली सीएम

जम्मू (7 जनवरी): जम्मू और कश्मीर राज्य के मुख्यमंत्री मुफ़्ती मोहम्मद सईद का दिल्ली के एम्स में निधन हो गया है। उनके निधन के बाद सबसे बड़ा सवाल यह है कि कौन होगा अगला मुख्यमंत्री?

सईद भी चाहते थे कि महबूबा बने सीएम सईद के जाने के बाद जम्मू के सीएम की रेस में सबसे पहला नाम उनकी बेटी महबूबा मुफ्ती का आता है। सईद ने भी नवंबर में जम्‍मू में अपनी प्रेस कांफ्रेंस के दौरान महबूबा मुफ्ती के सीएम बनने का इशारा किया था। उन्‍होंने कहा था कि वह जमीन से जुड़ी नेता है और उसके प्रयासों के कारण ही पीडीपी को अच्‍छी संख्‍या में सीटें मिली, साथ ही वह सरकार बना पाई। उसका लोगों से अच्‍छा जुड़ाव है और वह सीएम बनने के काबिल है लेकिन यह सामूहिक निर्णय होगा।

पहली महिला सीएम होंगी महबूबा गौरतलब है कि बजट सत्र 18 जनवरी से शुरू हो रहा है। ऐसे में बीजेपी और पीडीपी को जल्द ही नया मुख्यमंत्री चुनना होगा। इस बीच अगर महबूबा मुफ्ती को यह पद दिया जाता है तो वो जम्मू-कश्मीर की पहली महिला सीएम होंगी।

आरएसएस भी तैयार सईद के अस्पताल में भर्ती होने के बाद से ही महबूबा मुफ्ती को अगला सीएम बनाने की बात पर अटकलें लगनी शुरू हो गई थी। हालांकि बीजेपी और पीडीपी की गठबंधन के लिहाज से भी लिए उनका नाम सबसे सुरक्षित माना जा रहा है। सूत्रों के अनुसार आरएसएस को भी इस बात से कोई आपत्ति नहीं है।

पार्टी की जीत में महबूबा का अहम योगदान वर्तमान में महबूबा मुफ्ती विधानसभा या विधान परिषद में से किसी भी सदन की सदस्‍य नहीं है लेकिन सीएम बनने के छह महीने के अंदर उन्‍हें इन दोनों में से किसी भी एक सदन का सदस्‍य बनना होगा। 2014 में हुए विधानसभा चुनावों में पीडीपी को जीत दिलानें में भी महबूबा ने अहम रोल निभाया था। इस चुनाव में पीडीपी को 28 और भाजपा को 25 सीटें मिली थी और दोनों ने मिलकर सरकार बनाई थी।