गायब जिन्ना की तस्वीर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में फिर लगी, प्रशासन ने दी सफाई

नई दिल्ली ( 2 मई ): अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर बुधवार को नया मामले सामने आया। यूनिवर्सिटी में तस्वीर जहां टंगी हुई थी वहां से मंगलवार रात गायब हो गई। लेकिन यूनिवर्सिटी प्रशासन ने गायब होने की खबर का खंडन किया। उन्होंने कहा कि जिन्ना की तस्वीर इमारत के नवीकरण और साफ-सफाई के लिए हटाई गई है। लेकिन हमेशा के लिए नहीं हटाई गई है।गौरतलब है कि सोमवार को अलीगढ़ से बीजेपी के सांसद सतीश गौतम ने यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को पत्र लिखकर पूछा था कि आखिर यूनिवर्सिटी में जिन्ना की तस्वीर क्यों लगी है? इसके बाद यह विवाद तूल पकड़ लिया। अलीगढ़ से सांसद सतीश गौतम ने इस मामले में यूनिवर्सिटी के कुलपति तारिक मंसूर को पत्र लिखकर इस मुद्दे को उठाया था लेकिन यूनिवर्सिटी ने सफाई दी थी कि जिन्ना यूनिवर्सिटी के संस्थापक सदस्यों में से एक थे और दानदाता भी थे। उनकी तस्वीर 1938 से टंगी हुई है।उन्होंने कहा, 'जिन्ना को मुस्लिम लीग द्वारा पाकिस्तान की मांग किए जाने से पहले सदस्यता दी गई थी। 'इस विवाद के सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जिन महापुरुषों का योगदान इस राष्ट्र के निर्माण में रहा है। यदि उन पर कोई उंगली उठाता है तो ये गलत बात है। देश के बंटवारे से पहले जिन्ना का योगदान भी इस देश में था।