टूटने से बचा भारतीय खिलाड़ी का 119 साल पुराना ये रिकॉर्ड

नई दिल्ली(29 मई): इंग्लैंड क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर मोईन अली श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में चेस्टर ली स्ट्रीट के मैदान पर 1897 का रिकॉर्ड तोडऩे से चूक गए। इंग्लैंड के लिए सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे अली ने 207 गेंद की अपनी पारी में 17 चौके और 2 छक्के लगाए।

एक समय ऐसा लग रहा था कि अली सातवें विकेट के सबसे बड़े रिकॉर्ड को तोड़ देंगे लेकिन कप्तान कुक ने दूसरे दिन 9 विकेट पर 498 रन बनाकर पारी घोषित कर दी। पारी घोषित होते ही 1897 में इंग्लैंड के लिए एक भारतीय द्वारा बनाए गया रिकॉर्ड एक बार फिर सुरक्षित रह गया।   मोईन अली ने नाबाद 155 रन की पारी खेली। यह उनका अपने करियर का दूसरा शतक है। 1897 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इंग्लैंड के लिए खेलते हुए भारत के कुमार श्री रणजीत सिंह ने 13 दिसंबर 1897 को सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 175 रन की पारी खेली थी जो आज तक इंग्लैंड के लिए सातवें नंबर पर खेली गई सबसे बड़ी पारी है। इस रिकॉर्ड को बने 119 साल हो गए हैं लेकिन आज तक इंग्लैंड के किसी भी बल्लेबाज ने भारत के सबसे बड़े खिलाडिय़ों में से एक रणजीत सिंह का ये रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाया है।