भारत और चीन का मिलकर काम करना जरूरी- जयशंकर

अस्ताना (9 जून): काजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना में शंघाई सहयोग संगठन यानी SCO की बैठक हो रही है। इस बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की अलग से भी मुलाकात हुई। मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय समेत कई अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा की। बैठक के दौरान पीएम मोदी ने  SCO का सदस्यता के लिए चीन की ओर से भारत के समर्थन पर उनकी सराहना की।


इस मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं ने चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे और परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह यानी NSG में भारत की सदस्यता के मुद्दे पर बढ़ते मतभेदों के बीच दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को सुधारने के तरीकों पर चर्चा की। भारत द्वारा बेल्ट एंड रोड फोरम का बहिष्कार किए जाने के बाद दोनों नेताओं के बीच की यह पहली मुलाकात है। पिछले माह बीजिंग में आयोजित इस फोरम का भारत ने बहिष्कार किया था।  


पीएम मोदी और जिनपिंग की मुलाकात के बाद भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर ने कहा कि दोनों नेताओं की मुलाकात सकारात्मक रही। साथ ही उन्होंने कहा कि वैश्विक अनिश्चितता के माहौल में भारत-चीन का मिलकर काम करना जरूरी है।