भगोड़े माल्या पर मोदी का शिकंजा, वापस लाने के लिए टेरीजा से मांगा सहयोग


हैमबर्ग (8 जुलाई): लंदन में रह रहे भारत के भगोड़े माल्या को वापस लाने के लिए किस तरह से पीएम मोदी सक्रिय हैं इसकी बानगी जी 20 शिखर सम्मेलन के दौरान देखने को मिला। जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी की ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे के साथ अलग से बैठक हुई। इस बैठक के दौरान पीएम मोदी ने भगोड़े अभियुक्तों को भारत को सौंपने के मामलों में ब्रिटेन की मदद मांगी। दोनों नेताओं ने विभिन्न क्षेत्रों में भारत और ब्रिटेन के संबंधों पर चर्चा की।


पीएम मोदी ने शनिवार को ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे से अपील की कि वह भारत में आथर्कि अपराध के मामलों में कानूनी कार्वाई से बच कर ब्रिटेन भागे भारत के नागरिकों को वापस लाने में अपने देश का सहयोग सुनिश्चित करें। आपको बात दें कि विजय माल्या पिछले कई महीनों से ब्रिटेन में रह रहे हैं, उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी है। ब्रिटेन से उनको भारत भेजने के मामले में लंदन की एक अदालत में सुनवाई चल रही है।


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने बैठक के बाद ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री ने 'भागे हुये भारतीय आथर्कि अपराधियों को लौटाने में ब्रिटेन के सहयोग के लिये कहा। यह पूछे जाने पर कि क्या यह अनुरोध केवल माल्या के मामले तक सीमित था या इसमें ललित मोदी का भी उल्लेख किया गया तो बागले ने कहा कि वो विवरण में नहीं पड़ना चाहते पर ट्वीट में जो शब्दावली प्रयोग की गयी है उसमें भाग कर गए आर्थिक अपराधियों का उल्लेख है और यह बहुवचन में है।