आपातकाल में छद्मवेश रखकर मोदी ने चलाया था संगठन

नई दिल्ली (17 सितंबर): बयालीस साल पहले जब देश में इमरजेंसी की घोषणा हुई थी तब मोदी 25 साल से भी कम उम्र के थे। इस दौरान उन्होंने एक सरदार का लुक अपनाया था और इसी वेश में उन्होंने कई दिन गुजारे थे। गुजरात में आपातकाल विरोधी मुहिम में मोदी ने सक्रियता दिखाई थी। नरेंद्र मोदी गुजरात लोक संघर्ष समिति का हिस्सा थे। संगठन संभालने के उनके कौशल को देखते हुए उन्हें इस समिति का महासचिव बनाया गया। उन्हें राज्य के आंदोलनकारियों को एकजुट करने का टास्क मिला था। हालांकि ये बेहद कठिन था लेकिन नरेंद्र मोदी विपरीत परिस्थितियों को हैंडल करना बखूबी जानते थे।