इजरायल में मोदी मंत्र, बोले- I फॉर I= इंडिया फॉर इजरायल

जेरूसलम (5 जुलाई): प्रधानमंत्री मोदी इजरायल के ऐतिहासिक दौरे पर हैं। पीएम मोदी ने अपने इजरायल दौरे का दूसरा दिन इजराइल के राष्ट्रपति रियूवेन रिवलिन से मुलाकात की। इजराइली राष्ट्रपति रियूवेन रिवलिन ने पीएम मोदी का बड़े गर्मजोशी से स्वागत किया।  पीएम का स्वागत करते हुए रिवलिन ने कहा कि हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अपने मेहमान के रूप में स्वागत करते हुए खुशी हो रही है। भारत और इजराइल एक अच्छे सहयोगी साबित होंगे और विभिन्न क्षेत्रों में उनका आपसी सहयोग गहरा होगा। स्वागत के दौरान प्रेसिडेंट की पत्नी भी उनके साथ थीं।


वहीं पीएम मोदी ने कहा कि इजराइल में जिस गर्मजोशी के साथ उनका स्वागत हुआ उससे वह खुश हैं। उन्होंने कहा कि इंडिया का 'आई' हमेशा इजराइल के 'आई' के साथ है। उन्होंने कहा कि आई का मतलब इंडिया और आई का मतलब इस्राइल। आई फॉर आई, आई विद आई।

पीएम नरेंद्र मोदी ने तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा कि इस्राइल के राष्ट्रपति ने मेरा गर्मजोशी से स्वागत किया। उन्होंने स्वागत के लिए प्रोटोकॉल भी तोड़ दिया। यह प्रतीक है कि उनके दिल में भारतीय लोगों के प्रति कितना सम्मान है। इससे पहले पीएम मोदी ने बेंजामिन नेतन्याहू से मुलाकात की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जो लोग मानवता में यकीन रखते हैं वे आतंकवाद और कट्टरता का विरोध करते हैं। वहीं इस्राइली पीएम ने कहा कि आतंकवाद की बुराइयों से निपटने के लिए दोनों देशों को साथ मिलकर काम करना होगा।  दोनों देशों के संबंध गणित के फॉर्मुले के हिसाब से उत्तम है। दोनों नेताओं के बीच आपसी मेलजोल को लेकर काफी गर्मजोशी देखने को मिली।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिलकर दिए गए प्रेस वक्तव्य में नेतन्याहू ने कहा कि मैं यह स्वीकार करता हूं कि योग के प्रति मोदी के उत्साह से मैं प्रेरित हुआ हूं। नेतन्याहू ने कहा कि वह योगाभ्यास शुरू करना चाहते हैं। उन्होंने कहा, पीएम मोदी ने मुझे निचले स्तर से शुरुआत करने की सलाह दी है। जब मैं सुबह के वक्त ताड़ासन करता हूं और अपना सिर दायीं ओर घुमाता हूं तो जो पहला लोकतंत्र मैं देखता हूं वह भारत है और जब मोदी वशिष्ठासन करते हैं और बायीं ओर मुड़ते हैं तो इस्राइल वह पहला लोकतंत्र है जो उन्हें नजर आता है। इसलिए हमारे सामने भारत और इस्राइल दो सिस्टर डेमोक्रेसी हैं।