आतंकवाद से निपटने के लिए दोनों देश मिलकर काम कर सकते हैं- PM मोदी

येरूशलम (4 जुलाई): भारतीय विदेश नीति के इतिहास में नया अध्याय जोड़ते हुए कोई पहला प्रधानमंत्री इजरायल के दौरा पर पहुंचा है। नरेंद्र मोदी तीन दिनों के इजरायल के दौरे पर तेल अवीव पहुंचे। यहां के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर पीएम मोदी के स्वागत के लिए खुद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू मौजूद थे। जैसे ही पीएम मोदी विमान से नीचे उतरे तो नेतन्याहू ने बड़ी गर्मजोशी से उनका स्वागत किया। खूब देर तक हाथ मिलया, गले मिले।

बेंजामिन नेतन्याहू ने बड़े ही अनोखे अंदाज पीएम मोदी का स्वागत किया। नेतन्याहू ने हिंदी में कहा- 'आपका स्वागत है मेरे दोस्त'। इसके बाद पीएम मोदी मंच पर आए और उन्होंने भी इस भव्य स्वागत का जवाब बड़ी गर्मजोशी से दिया। पीएम मोदी ने कहा कि मुझे भारत के यहां आने वाले पहले प्रधानमंत्री के रूप में गर्व का अनुभव हो रहा है। उन्होंने कहा कि भारत की सभ्यता बहुत पुरानी है लेकिन यह युवा दिवस है। दोनों देशों को मिलकर विकास की चुनौतियों का सामना करना है और आतंकवाद से भी मिलकर लड़ाई लड़नी है।

इजरायली पीएम की बड़ी बातें...

- हिंदी में कहा-आपका स्वागत है मेरे दोस्त

- स्काई इज द लिमिट लेकिन आज मैं कहना चाहता हूं कि स्काई की भी लिमिट नहीं है

- हम भारत से प्यार करते

- प्रधानमंत्री भारत और दुनिया के महान नेता हैं

- दोनों देशों की साझेदारी की सफलता पर उन्हें पूरा भरोसा है

- नेतन्याहू ने पीएम मोदी को अपना दोस्त कहकर संबोधित किया

भारतीय पीएम की बड़ी बातें...

- नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत इजरायल की भाषा हिब्रू में किया

- मुझे भारत के यहां आने वाले पहले प्रधानमंत्री के रूप में गर्व का अनुभव हो रहा है

- पीएम नेतन्याहू ने मेरा गर्मजोशी से स्वागत किया, मैं आभारी हूं

- भारत की सभ्यता बहुत पुरानी है लेकिन यह युवा दिवस है

- दोनों देशों को मिलकर विकास की चुनौतियों का सामना करना है और आतंकवाद से भी मिलकर लड़ाई लड़नी है

- मैं यहां बड़ी संख्या में रहने वाले भारतीय मूल के यहूदियों से मिलना चाहता हूं।