मनमोहन सिंह ने मोदी पर साधा निशाना, बताया साइलेंट PM

 

नई दिल्ली(13 फरवरी): पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए उन्हें साइलेंट प्राइम मिनिस्टर करार दिया। एक न्यूज चैनल से बात करते हुए मनमोहन ने कहा कि अर्थव्यवस्था बेहद कमजोर स्थिति में है। देश में करीब 32 फीसदी तक निवेश में कमी आई है। यूपीए की सत्ता के दौरान निवेश करीब 35 फीसदी बढ़ा था। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार की हालत देखकर लगता है कि उसमें आत्मविश्वास की कमी है।

सरकार ने अपने कार्यकाल का दो साल गवां दिया और जनता को यह भरोसा भी नहीं दिला पाई कि अर्थव्यवस्था बेहतर हो रही है। बातचीत के दौरान मनमोहन सिंह ने कहा कि उन्होंने नरेंद्र मोदी को सलाह दी थी कि वे देशहित के मुद्दों पर कांग्रेस को साथ लेने के लिए राहुल और सोनिया गांधी से अच्छे रिश्ते बनाएं। उन्होंने कहा कि मोदी ने मेरी बातों को बड़े ध्यान से सुना लेकिन बोले कुछ भी नहीं। मैंने उनसे कहा कि आपको कांग्रेस को हल्के में नहीं लेना चाहिए। सिंह के मुताबिक, मोदी सरकार ने जीएसटी समेत अहम मुद्दों पर कांग्रेस से बातचीत नहीं की। फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली बेटी की शादी के लिए न्योता देने जब सोनिया और उनके पास आए तब इस बारे में बात हो पाई।

पूर्व प्रधानमंत्री ने असिहष्णुता, बीफ बैन और कम्यूनल वॉयलेंस जैसे मुद्दों पर मोदी की चुप्पी पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि हमारे देश की जनता चाहती है कि पीएम अहम मुद्दों पर देश को रास्ता दिखाएं। लेकिन मोदी बीफ प्रॉब्लम और मुजफ्फरनगर जैसे मामलों पर चुप रहे। मनमोहन ने ये भी कहा कि मोदी सरकार इकोनॉमिक डेवलपमेंट के मौकों का सही फायदा नहीं उठा पाई। वो भी तब जबकि इसके लिए पहले से जमीन तैयार थी। और यूपीए के मुकाबले माहौल भी अच्छा था। पाकिस्तान से रिश्तों को लेकर भी मनमोहन मोदी सरकार से खफा दिखे।