1971 के युद्ध में शहीद हुए भारतीय सेना के परिवारों का सम्मान

नई दिल्ली (8 अप्रैल): 1971 में बांग्लादेश की आजादी और मौजूदा प्रधानमंत्री शेख हशीना के पिता और परिवार को बचाने में भारतीय सेना का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। भारतीय जांबाजों ने 1971 में जहां बांग्लादेश को आजादी दिलाई, वहीं उनके परिवार को भी बचाया। मुक्तियोद्धाओं के साथ-साथ बांग्लादेश के लिए किए गए भारतीय फौज के संघर्ष और बलिदान को भी कोई नहीं भुला सकता। इसी कड़ी में आज बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और पीएम मोदी ने 1971 युद्ध में शहीद हुए भारतीय जवानों के परिवार को सम्मानित किया।  

इस खास मौके पर पीएम हसीना ने मेजर अशोक तारा और उनकी पत्नी से भी मुलाकात की। ये मेजर अशोक तारा वही हैं जिन्होंने 1971 की लड़ाई में शेख हसीना के पिता मजबिर रहमान और उनके परिवार को बचाया था।