भारत में रह रहे पाकिस्तानी हिंदुओं को ये अहम अधिकार देगी मोदी सरकार

नई दिल्ली (17 अप्रैल): भारत में दीर्घकालिक वीजा पर भारत में रहने वाले पाकिस्तानी हिंदू समुदाय के लोगों को मोदी सरकार जल्द ही बड़े अधिकार दे सकती है। इनमें सम्पत्ति खरीदने, बैंक अकाउंट खोलने और आधार कार्ड बनवाने के अधिकार शामिल हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी सरकार सीमा पार से आए अल्पसंख्यक हिंदुओं को खास सुविधा देने की तैयारी कर रही है। दूसरी सुविधाओं के अलावा वह उन्हें भारत में रहने की सुविधा भी दे सकती है। इसके लिए नागरिक के तौर पर होने वाले रजिस्ट्रेशन की फीस को 15,000 रुपए से घटाकर 100 रुपए किया जा सकता है।

हालांकि, पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आए शरणार्थियों की असल संख्या ज्ञात नहीं है। सरकार के अंदाजे के मुताबिक, ऐसे लोगों की संख्या करीब 2 लाख है। जिनमें ज्यादातर हिंदू और सिख हैं। जोधपुर, जैसलमेर, जयपुर, रायपुर, अहमदाबाद, राजकोट, कच्छ, भोपाल, इंदौर, मुंबई, नागपुर, पुणे, दिल्ली, लखनऊ में करीब 400 शरणार्थी कैम्प हैं, जिनमें पाकिस्तानी हिंदू रह रहे हैं। 

गृह मंत्रालय की तरफ से जारी अधिसूचना में कहा गया है, "केंद्र सरकार लगातार भारत में रह रहे पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों की परेशानियों की समीक्षा करती रही है। उनकी कुछ परेशानियों को कम करने के लिए ऐसी सुविधाएं देने का प्रस्ताव है।" 

प्रस्तावित सुविधाओं में बिना आरबीआई की अनुमति के सशर्त बैंक अकाउंट खोलने, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड और आधार कार्ड दिए जाने की सुविधाएं शामिल हैं। इसी तरह स्वरोजगार या खुद के लिए रहने के लिए घर खरीदने के लिए भी कुछ शर्तें रहेंगी। ड्राइविंग लाइसेंस और पैनकार्ड के लिए विदेशी पंजीकरण अधिकारी के सामने उपस्थित होना होगा।