नेगेटिव और उत्तेजक खबरों पर नजर रखेगी सरकार

नई दिल्ली (23 फरवरी): अगर आप सोशल मीडिया पर उत्तेजक या देश विरोधी कंटेंट लिखते हैं तो हो जाएं सावधान क्‍योंकि सरकार की योजना एक ऐसा स्पेशल मीडिया सेल बनाने की है जो ऑनलाइन कंटेंट का पता लगाएगा और उन खबरों और प्रतिक्रियाओं का काउंटर करेगा जिससे नकारात्मकता और उत्तेजना फैलती हो।

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने नेशनल सिक्यूरिटी काउंसिल सिक्रेट्रिएट (एनएससीएस) ने एक नेशनल मीडिया एनालेटिक्स सेन्टर (एनएमएसी) बनाने का प्रस्ताव किया था जो ब्लॉग, टीवी चैनलों और समाचार पत्रों के बेवपोर्टल्स, सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम औकर यूट्यूब आदि पर प्रकाशित सामग्री की चौबीसों घंटे निगरानी कर सके।

सूत्रों के अनुसार सरकार का मानना है कि आए दिन नकारात्मक भावनाओं का उसे सामना करना पड़ता है। इसका काउंटर प्रेस रिलीज जारी कर, प्रेस ब्रीफिंग या प्रेस कांफ्रेंस कर किया जाए। इसके लिए नवाचार किया जाएगा। पिछले साल अगस्त में सरकार ने सभी मंत्रालयों को निर्देशित किया था कि वे टीम बनाकर प्रतिक्रियाओं का तुरन्त जवाब दें जिसमें पीआईबी से नोडल अधिकारी समेत विशेषज्ञ लिए जाएं। नकारात्मक कंटेट का जवाब देने के लिए एक अलग तरह का सॉफ्टवेयर बनाने का नवाचार करने की बात भी कही गई है।