Blog single photo

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, ऐसे खाताधारकों की लगी लॉटरी

अगर देश के किसी भी बैंक में आपका अकाउंट हैं तो यह खबर जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी है, क्योंकि मोदी सरकार ने बैंक में अकाउंट रखने वाले के लिए एक बड़ा ऐलान किया है। मिली जानकारी

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 दिसंबर): अगर देश के किसी भी बैंक में आपका अकाउंट हैं तो यह खबर जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी है, क्योंकि मोदी सरकार ने बैंक में अकाउंट रखने वाले के लिए एक बड़ा ऐलान किया है। मिली जानकारी के अनुसार, आम लोगों को राहत देते हुए मोदी सरकार ने बैंकिंग सेवाओं खासकर जनधन खातों को GST के दायरे से बाहर कर दिया है।

इसके बाद अब जनधन खाता ग्राहकों को NEFT, डेबिट कार्ड सुविधा, चेक क्‍लीयरिंग सुविधा आदि पर जीएसटी नहीं देना होगा। बैंकिंग सेवाओं पर 1 जुलाई 2017 से कर की दर 15 प्रतिशत की बजाय 18 प्रतिशत हो गई थी, क्‍योंकि जीएसटी के तहत सेवाकर की दर में बदलाव 1 जुलाई, 2017 से पूरे देश में प्रभावी था।

अब तक ये साफ नहीं था कि बैंक की किन सेवाओं पर कितना जीएसटी लगता है। CBDT ने साफ किया है कि कि‍स तरह की सेवाओं पर जीएसटी लगेगा और कौन सी सेवाएं जीएसटी से मुक्‍त रहेंगी। इनमें सबसे बड़ी सेवा है एटीएम से निकासी। इसके तहत 1 माह में तय सीमा से ज्‍यादा ट्रांजेक्‍शन पर प्रति ट्रांजेक्‍शन 10 रुपए से 25 रुपए तक चार्ज देना पड़ता है। इस चार्ज के साथ आपको जीएसटी का भुगतान भी करना होगा।

आम आदमी को हुए ये महत्‍वपूर्ण फायदे...

- अगर आप क्रेडिट कार्ड धारक हैं और बिल पेमेंट समय पर नहीं करते हैं तो बैंक आपसे लेट पेमेंट चार्ज वसूलता है। इस पर जीएसटी लगता है।

- अगर आप ज्‍यादा पन्‍नों वाली चेक बुक लेते हैं तो आपको जीएसटी देना होता है। ऐसे में शुल्‍क देते हुए चेकबुक या बैंक स्‍टेटमेंट हासि‍ल करने पर उस शुल्‍क पर जीएसटी भी लगेगा।

- अगर आप होम या अन्‍य कोई लोन कि‍सी दूसरे बैंक में ट्रांसफर करते हैं तो उसके लि‍ए आपको ट्रांजैक्‍शन प्रोसेसिंग फीस देनी होती है। इस फीस पर जीएसटी लगता है।

- EMI समय पर न देने से अलग से चार्ज लगता है। यह चार्ज भी जीएसटी के दायरे में आता है।

Tags :

NEXT STORY
Top